नई दिल्ली।  केंद्रीय मंत्री कर्नल (रिटायर्ड) राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर सेना और शहीदों का अपमान करने का आरोप लगाया है। राठौड़ ने कहा कि राहुल गांधी को भारतीय सेना के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं है। उन्होंने ट्विटर पर अपना एक विडियो पोस्ट करके राहुल गांधी की सेना के बारे में समझ को  लेकर सवाल उठाया है। उन्होंने राहुल से अपील की है कि वह राजनीति करें लेकिन अपनी राजनीति में शहीदों का अपमान ना करें। राफेल डील पर राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस का एक वी‎डियो सुनाते हुए राठौड़ ने कहा, ये आप हमारे शहीदों के लिए बात कर रहे हैं, सैनिकों के लिए कर रहे हैं। कोई भी आम इंसान जो इस देश का नाग‎रिक है इस मिट्टी से जन्मा हो, इस संस्कृति को जानता हो, वह समझ सकता है कि शहीदों और सैनिकों का सम्मान किया जाता है। आपको मर्सीनरी और सैनिकों में फर्क तो पता ही होगा। मर्सीनरी होते हैं वो, जो किसी भी समूह, किसी भी देश के लिए पैसे के लिए लड़ते हैं। हमारे सैनिक किसी भी देश के लिए नहीं, भारत के लिए लड़ते हैं। हमारे सैनिक पैसों के लिए नहीं लड़ते, आत्मसम्मान, भारत की रक्षा और भारत के सम्मान के लिए लड़ते हैं। आप राजनीति कीजिए, लेकिन अपनी राजनीति में शहीदों का या सेना का अपमान करने की को‎शिश भी न करें। । ये मैं एक सैनिक होने के नाते कह रहा हूं। और क्या से उम्मीद की जा सकती है। 
दरअसल, राफेल डील को लेकर राहुल गांधी ने अपने एक हालिया प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि 30,000 करोड़ रुपये सेना के काम आ सकते थे। गांधी ने कहा था कि यह 30 हजार करोड़ पायलटों को दिया जा सकता है, जब प्लेन क्रैश में उनकी मौत हो। बता दें कि राफेल बनाने वाली कंपनी दसॉ को भारत में 30 हजार करोड़ रुपये का निवेश करना होगा। राहुल गांधी अनिल अंबानी की कंपनी को दसॉ द्वारा ऑफसेट पार्टनर चुने जाने को लेकर पीएम मोदी पर राफेल डील के जरिए अंबानी को फायदा पहुंचाने का आरोप लगाते आए हैं।