इंदौर। विदेशों में तैयार स्वीपिंग मशीन से ही अभी शहर की सड़कों की सफाई की जा रही है। शहर के कक्षा 10वीं के छात्र ने एक ऐसा डिवाइस बनाया है, जिसे किसी भी साइकिल, टू-व्हीलर या वाहन पर रखकर किसी भी मैदान या रोड की सफाई कम खर्च में आसानी से की जा सकेगी। ऐसे ही आमजन के उपयोग में आने वाले चार मॉडल इंदौर जिले के छात्रों ने बनाए हैं। अब इन छात्रों के मॉडलों का आईआईटी इंदौर में राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता के लिए चयन हुआ है।

मानव संसाधन मंत्रालय द्वारा देशभर के छात्रों में विज्ञान के प्रति जागरूकता को लेकर यह प्रतियोगिता करवाई जाती है। छात्रों के विज्ञान आइडिया के चयन के बाद उन्हें केंद्र शासन की ओर से 10 हजार रुपए दिए गए हैं। इसके बाद छात्रों ने अपने मॉडल तैयार किए हैं। होशंगाबाद में 16 से 18 जनवरी को अयोजित राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में इंदौर जिले के 14 और पूरे प्रदेश के 300 छात्र ने अपने विज्ञान मॉडल को प्रदर्शित किया था। इनमें इंदौर के चार छात्रों के मॉडल का चयन किया गया है। इन्हें आईआईटी दिल्ली में 14 से 15 फरवरी को होने वाली राष्ट्रीय प्रदर्शनी में शामिल किया जाएगा।

 

छात्रों ने बनाए उपयोगी मॉडल

इंदौर जिले के छात्रों में देवी अहिल्या शिशु विहार के कक्षा 10वीं के छात्र तरंग पुरोहित ने कम लागत में रोड की सफाई करने वाला रोड क्लीनर का मॉडल बनाया है। इसे किसी भी गाड़ी के पीछे या साइकिल पर लगा सकते हैं। कचरे से झाडू लगाने के बजाय साइकिल या गाड़ी पर मशीन बांधकर सफाई की जा सकेगी।

 

जिनके हाथ नहीं, वे पैर से चला सकेंगे मोबाइल

क्लॅाथ मार्केट वैष्णव बाल मंदिर की कक्षा 9वीं की छात्रा राधिका सांखला ने एक ऐसा फोन बनाया है, जो ऐसे विकलांगों के काम आएगा, जिनके हाथ नहीं हैं। वे इसे पैर की अंगुलियों से ऑपरेट कर सकेंगे इससे फोन डायल भी कर सकेंगे और रिसीवर का बटन पैर से दबेगा और लाउड स्पीकर पर आवाज सुनाई देगी।

 

जाले साफ करने वाली झाडू से सफाई होगी आसान

श्री अकादमी, कोदरिया महू के कक्षा 10वीं के छात्र चंद्रवीर बैरागी ने एडजस्टेबल स्मार्ट वेब रिमूवर (जाले साफ करने वाली झाडू) बनाया है। इसमें एक पाइप में रोटेटर घूमता है और छत के जाले साफ होते हैं। इसमें एक छोटा एग्जास्ट फैन लगाकर छत पर लगे जाले व कचरे को नीचे खींचकर डस्टबिन में पहुंचाने की व्यवस्था है। इसमें लाइट भी लगाई है, जिससे अंधेरी जगह में भी सफाई की जा सके।

 

कार पार्किंग की समस्या से निजात दिलाएगी पोर्टेबल पार्किंग

इसके अलावा विनर्स वैली स्कूल इंदौर की कक्षा 9वीं की छात्रा निशा धारे ने कार पार्किंग का मॉडल तैयार किया है। मेले के झूले की तर्ज पर यह पार्किंग रोटेड करेगी और कार पार्क को करके एक फ्लोर से दूसरे फ्लोर पर पहुंचाएंगी। यह पोर्टेबल पार्किंग होगी और इसे किसी भी स्थान पर ले जाया जा सकेगा।