रायपुर। राज्य उच्च शिक्षा विभाग ने 16 साल बाद प्रदेश के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों की कॉपी जांचने वाले मूल्यांकनकर्ताओं का मानदेय कई गुना बढ़ा दिया है। अब थीसिस पढ़ने पर 500 रुपये के बजाय 2500 रुपये मिलेगा। स्नातक की एक कॉपी जांचने के लिए पांच के बजाय 15 रुपये और स्नातकोत्तर की प्रति कॉपी जांचने पर आठ रुपये की जगह 25 रुपये मिलेंगे। पेपर मॉडरेट करने, केंद्राध्यक्ष बनने, पर्यवेक्षक बनने, वायवा लेने आदि का मेहनताना भी बढ़ा दिया गया है।
ऐसे बढ़ा मद पहले अब
- थीसिस रीडिंग 500 रुपये 2500 रुपये
- प्रैक्टिकल एवं वायवा 200 रुपये 1500 रुपये
- पेपर सेटिंग स्नातक 200 रुपये 900 रुपये
- पेपर सेटिंग स्नातकोत्तर 250 रुपये 2000 रुपये
- केंद्राध्यक्ष बनने पर 125 रुपये 300 रुपये
- स्नातक का मूल्यांकन 5 रुपये प्रति कॉपी 15 रुपये
- स्नातकोत्तर का मूल्यांकन 8 रुपये प्रति कॉपी 25 रुपये