इंदौर। नूरानी नगर स्थित पन्नी कारखाने की अलमारी से मिली तीन दिन की नवजात के माता-पिता का पता चल गया है। कारखाने के चौकीदार की नाबालिग बेटी ने अपनी अवैध संतान को अलमारी में छिपा दिया था। मामा के लड़के से उसके अवैध संबंध थे। इसके चलते शुक्रवार को नाबालिग ने बेटी को जन्म दिया था। पुलिस मामा के लड़के की तलाश कर रही है।

चंदन नगर टीआई राहुल शर्मा के मुताबिक, नाबालिग के साथ दुष्कर्म करने वाले मामा के लड़के के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। उसके बारे में पता चला है कि वह बीना में नौकरी करता है। गौरतलब है कि नूरानी नगर स्थित वसीम कुरैशी के कारखाने में बने एक कमरे की अलमारी में सोमवार शाम तीन दिन की बच्ची मिली थी। उसे अलमारी तोड़कर निकालने के बाद इलाज के लिए एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां वह पूरी तरह स्वस्थ है।

 

पूछताछ में पता चला है कि नवजात बच्ची चौकीदार की 17 वर्षीय बेटी की है। जो अपने तीन छोटे भाइयों के साथ कारखाने के पिछले हिस्से में बने कमरे में रहती है। जबकि उसके माता-पिता कारखाने के सामने वाले हिस्से में एक कमरे में रहते हैं। नाबालिग ने बताया कि उसके मामा का लड़का मिलने आता रहता था। इसी दौरान शारीरिक संबंध बन गए थे। शुक्रवार को बेटी का जन्म हो गया था। वह बच्ची के जन्म को छिपाने के लिए उसे अपने कमरे में छोड़कर काम करने चली जाती थी। सोमवार सुबह पिता शादी समारोह में शामिल होने भोपाल गए थे। मां ने छुट्टी ले रखी थी। मां उसे लेकर बकरी चराने चली गई थी। शाम को मां उससे मिलने उसके कमरे में आने वाली थी। उसे डर था कि मां के आने के बाद बच्ची के जन्म की जानकारी पता चल जाएगी। इसलिए उसने बच्ची को माता-पिता के कमरे की अलमारी में छिपा दिया और फिर ताला लगाकर अपने कमरे में चली गई।

शाम करीब 6.30 बजे बच्ची के रोने की आवाज कारखाने में काम करने वाले युवक ने सुनी थी। उसकी सूचना पर पुलिस और 108 मौके पर पहुंची थी। पुलिस के मुताबिक, बच्ची का जन्म समय से पहले हो गया है।

 

सुबह चाइल्ड लाइन और पुलिस की टीम गई थी कारखाने

चाइल्ड लाइन टीम के सदस्य जितेंद्र परमार और एसआई हरेंद्र यादव ने बताया कि मंगलवार सुबह वे कारखाने में जांच के लिए गए थे। कारखाना संचालक, चौकीदार, उसकी पत्नी और उसकी 17 वर्षीय बेटी सहित अन्य कर्मचारियों से पूछताछ की थी। चौकीदार, उसकी पत्नी और बेटी के बयानों में अंतर मिल रहा था। इस वजह से तीनों को पूछताछ के लिए थाने लेकर आए।