जबलपुर। एक फरवरी से शुरू किए गए मनोरंजन कर के नियमों का विरोध बढ़ता जा रहा है। शनिवार को अर्धनग्न प्रर्दशन करने के बाद रविवार को जबलपुर केबल ऑपरेटर वेलफेयर एसोसिएशन के बैनर तले एक बैठक आयोजित की। बैठक में नई व्यवस्था पर कई सवाल खड़े किए गए। केबल ऑपरेटर्स का कहना है कि नई व्यवस्था के तहत मनोरंजन अब मंहगा हो जाएगा। जिससे उपभोक्ता को तगड़ा नुकसान होगा।
बैठक में केबल आपरेटरर्स ने कहा कि ट्राई के इस नियम से लोगों का टीवी पर मनोरंजन सस्ता होने का दावा किया जा रहा है, जबकि हकीकत यह है कि अब लोगों की तीन गुनी कीमत मनोरंजन के लिए चुकानी पड़ेगी। जिसका सीधा असर उपभोक्ताओं पर पड़ेगा। नई व्यवस्था से केबल ऑपरेटरर्स को नुकसान होगा। कुछ बड़े उद्योगपतियों को इससे सीधा फायदा होगा।
यह हुई चर्चा .........
बैठक में ट्राई के एमआरपी कानून से किस प्रकार केबल व्यवसाय बचाते हुए उपभोक्ताओं को सस्ता मनोरंजन उपलब्ध कराया जाए, इस पर गंभीरतापूर्वक चर्चा हुई। बैठक में सभी केबल ऑपरेटर ने अपने-अपने विचार खुलकर रखे। बैठक में ट्राई के नियमों के खिलाफ आम जनता को जागरुक करने, इस मामले में जनप्रतिनिधियों द्वारा कोई सकारात्मक प्रयास नहीं किये जाने संबंधित विचार भी कुछ आपरेटर्स ने रखे।
ये रहे मौजूद .........
बैठक में जबलपुर केबल आपरेटर्स वेलफेयर एसोसिएशन के अनिल त्रिवेदी, विजय चौकसे, गोपी चौधरी, अरविंद पैगवार, अजय ग्रोवर, अश्वनी गुप्ता, पप्पू नंदवाडा, बब्लू कोष्ठा, राजू पटेल, गुरवचन सिंह, मनजीत मेहता, सुभाष साहू, मिथलेश शुक्ला, दिलीप विश्वकर्मा आदि मौजूद रहे।