लंदन । अगर आपकी सीटिंग जॉब है तो सावधान हो जाइए, क्योंकि बहुत ज्यादा देर तक बैठे रहना आपकी पीठ के लिए अनुकूल नहीं है। बहुत ज्यादा देर तक बैठे रहने से कमर पर बहुत जोर पड़ता है और कमर से जुड़ी रीढ़ को सहारा देने वाली मसल्स और नसों में दर्द और इंजरी हो सकती है। लिहाजा अपनी रीढ़ की सेहत बनाए रखने और पीठ दर्द से निजात पाने के लिए आप इन टिप्स को अपनाकर वर्कप्लेस पर बैठे-बैठे भी अपनी फिटनेस को बरकरार रख सकते हैं। इन दिनों ज्यादातर लोग आरामदायक दफ्तर में अपनी डेस्क से चिपके रहते हैं। फिजिकल मेहनत न होने के कारण हमारी मसल्स, हड्डियां, लिगामेंट्स और टिश्यू कमजोर पड़ते जा रहे हैं। हमारी पीठ की हड्डियां जितनी कमजोर होंगी, इंजरी और दर्द का खतरा भी उतना ही अधिक होगा। लिहाजा प्रतिदिन एक्सर्साइज करें, खासकर पीठ को स्ट्रॉग बनाने वाले एक्सर्साइज संपूर्ण रीढ़ की सेहत को बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है। 
हल्के-फुल्के ऐरोबिक एक्सर्साइज और दौड़ना पीठ की मसल्स को स्ट्रॉग बनाता है। कोशिश करें कि आप 30 मिनट से ज्यादा एक ही जगह पर न बैठे रहें। 1-2 मिनट का ही सही लेकिन छोटे-छोटे ब्रेक लेते रहें। लगातार बैठे रहना स्मोकिंग की तरह हो गया है जिससे आपको डायबीटीज, हाई बीपी और कई दूसरी गंभीर बीमारियां होने का खतरा है। अगर आप विमान या कार में सफर कर रहे हैं, तो बीच-बीच में हर घंटे सीट से उठकर आसपास चहलकदमी कर लें, चाहे जितनी ही जगह वहां हो। इससे आपकी पीठ को एक ही मुद्रा में लगातार बैठे रहने से पर्याप्त ब्रेक और आराम मिल जाएगा। पीठ दर्द का एक बड़ा कारण गलत पॉश्चर भी है। प्रतिदिन की जिंदगी में सही मुद्रा बनाए रखने से रीढ़ की सेहत लंबे समय तक सुधरी रह सकती है। बैठते समय अपनी पीठ को सीधी रखें, झुककर न बैठें, गलत तरीके से घूमें या झुकें नहीं। इस तरह की मुद्राएं पीठ की मसल्स और लिगामेंट्स पर बहुत ज्यादा दबाव डालती हैं। सही मुद्रा बनाए रखना ही कई तरह की पीठ की समस्याओं से बचने का मूलमंत्र है। 
लंबे समय तक बैठने से टांगों में भी दर्द होने लगता है। अपनी टांग और थाई की मसल्स को समय-समय पर खोलते रहने से अत्यधिक दबाव का असर कम हो सकता है। कंप्यूटर स्क्रीन पर लगातार देखते रहने की वजह से हमारी आंखें भी थक जाती हैं और आंखों को भी नुकसान होता है, लिहाजा कंप्यूटर पर देखते वक्त जितना हो सके उतनी बार पलकें झपकाते रहें। जब भी सीट से उठकर ब्रेक लें उस वक्त आंखों में भी ठंडे पानी के छींटे मारें और दिन में कम से कम 5-6 बार इस प्रक्रिया को दोहराएं, इससे आंखों को आराम मिलेगा। ऑफिस में काम के दौरान लगने वाली छोटी-छोटी भूख को शांत करने के लिए फैट और ऑइल से भरपूर समोसा और बर्गर जैसी चीजें खाने की बजाए फ्रूट्स और नट्स खाएं।