नई दिल्ली. मकर संक्रांति के मौके पर सोना खरीदने का अच्छा मौका है. सरकार सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम की नई सीरीज लॉन्च कर रही है, जिसमें आप 14 जनवरी से लेकर 18 जनवरी तक पैसे लगा सकते हैं. इस दौरान आप 3,214 रुपए प्रति ग्राम सोना खरीद सकते हैं. सॉवरेन गोल्ड स्कीम 2018-19 सीरीज के लिए ऑनलाइन आवेदन व भुगतान करने वाले निवेशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम की छूट दी जाएगी. इसके अलावा कई ऐसी खास बाते हैं, जो आपके लिए जानना जरूरी हैं.

क्या है यह स्कीम 
सरकारी गोल्ड बॉन्ड योजना नवंबर 2015 में शुरू की गई थी, जिसका उद्देश्य सोने की फिजिकल डिमांड को कम करना है. बॉन्ड में न्यूनतम निवेश एक ग्राम है. घर में सोना खरीदकर रखने की बजाय अगर आप सॉवरेन गोल्‍ड बॉन्‍ड में निवेश करते हैं, तो आप टैक्‍स भी बचा सकते हैं. इस योजना में सोने की सुरक्षा को लेकर किसी तरह की चिंता करने की जरूरत नहीं होती. चूंकि यह एक सरकारी योजना है, ऐसे में सोने की शुद्धता की पूरी गारंटी होती है. 

ऐसे मिलेगी 50 रु. प्रति ग्राम छूट 
यह सॉवरेन गोल्ड बांड 2018-19 की 5वीं सीरीज है. सरकार ऑनलाइन आवेदन करने वालों और डिजिटल माध्यम से भुगतान करने वाले निवेशकों को 50 रुपए प्रति ग्राम की छूट देगी. 
कितनी है मैच्योरिटी लिमिट? 
स्कीम की मैच्युरिटी 8 साल की है. किसी भी व्यक्ति के पास इस बॉन्ड को रखने के दो विकल्प होते हैं. निवेशक अपने बॉन्ड को किसी को भी ट्रांसफर कर सकते हैं, बशर्ते वह व्यक्ति स्कीम की शर्तों को पूरा करता हो. यदि आप समय से पहले बॉन्ड से बाहर निकलना चाहते हैं तो कम से कम 5 साल बीतने के बाद ही आप ऐसा कर सकते हैं.

कहां मिलेगा बॉन्ड?
इन बॉन्ड की बिक्री बैंकों, स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, चुने गए डाकघरों और स्टॉक एक्सचेंज के जरिए कर सकते हैं.  

कितना सोना खरीद सकते हैं?
इस स्कीम के सबसे छोटा बॉन्ड 1 ग्राम के सोने के बराबर होगा. कोई भी व्यक्ति एक साल में अधिकतम 500 ग्राम सोने का बॉन्ड खरीद सकता है.