नई दिल्ली, राफेल (Rafale) पर कांग्रेस और बीजेपी के बीच जंग जारी है. कांग्रेस इस डील में भारी घोटाले का आरोप लगा रही है तो मोदी सरकार इससे इनकार कर रही. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अब रक्षा मंत्री पर हमला बोला है. राहुल गांधी ने कहा कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में झूठ बोला. निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में जवाब देने की बजाय लंबा बहाना बनाया. जब आपने ये बायपास सर्जरी की तो क्या रक्षा मंत्रालय और एयरफोर्स ने कोई आपत्ति जताई थी.

उन्होंने कहा कि निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में झूठ बोला है. राफेल का कॉन्ट्रैक्ट 136 से घटाकर 36 क्यों किया गया. मुझे सिर्फ हां या ना में जवाब दे दीजिए कि राफेल का कॉन्ट्रैक्ट HAL से छीन कर अनिल अंबानी की कंपनी को क्यों दिया.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि किस आधार पर अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ का प्रोजेक्ट दिया गया. इसका जवाब मुझे अभी तक नहीं मिला. रक्षा मंत्री दावा करती हैं कि वे HAL की मदद कर रहीं हैं, लेकिन दसॉ को 20 हजार करोड़ का पेमेंट मिल चुका है, वो भी बिना जहाज दिए. जबकि HAL को पेमेंट अब भी बकाया है.

राहुल गांधी ने कहा कि निर्मला सीतारमण को रक्षा मंत्री नहीं कहना चाहिए बल्कि नरेंद्र मोदी की प्रवक्ता कहना चाहिए. देश के चौकीदार लोकसभा में आने से डरते हैं, अगर नरेंद्र मोदी जी मेरे साथ 15 मिनट डिबेट कर जाएं तो सबकुछ साफ हो जाएगा. राहुल गांधी ने कहा कि चौकीदार ने चोरी की है. इससे पहले विमान सौदे में कथित गड़बड़ी का मुद्दा संसद के शीतकालीन सत्र में सोमवार को भी छाया रहा. संसद में इस मसले जमकर हंगमा हुआ. 

'HAL के पास सैलरी देने के पैसे नहीं'

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने HAL के मुद्दे पर सरकार को घेरते हुए कहा कि HAL के पास अपने कर्मचारियों को तन्ख्वाह देने के लिए पैसे नहीं हैं. अब राफेल अनिल अंबानी के पास है, उन्हें अपने कॉन्ट्रैक्ट को पूरा करने के लिए HAL के शानदार टैलेंट की जरूरत होगी. बिना सैलरी के HAL के इंजीनियर AA की कंपनी में जाने को मजबूर होंगे.