नई दिल्‍ली, अगर आप नए साल में मकान खरीदने की तैयारी कर रहे हैं तो आपके लिए 10 जनवरी का दिन बेहद खास हो सकता है. इस दिन मोदी सरकार ऐसा फैसला ले सकती है, जिसके लागू होने के बाद आपकी जेब पर बोझ कम पड़ेगा. न्‍यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक गुड्स एंड सर्विसेज टैक्‍स (जीएसटी) काउंसिल की 10 जनवरी को बैठक तय हुई है. इस बैठक में निर्माणाधीन फ्लैट और मकानों पर जीएसटी दर को घटाकर 5 फीसदी किए जाने पर विचार होने की संभावना है.

बता दें कि वर्तमान समय में निर्माणाधीन मकानों पर 12 फीसदी की जीएसटी दर लागू होती है. आसान भाषा में समझें तो निर्माणाधीन मकानों की जो कीमत जीएसटी की वजह से ज्‍यादा थी, इस फैसले के लागू होने के बाद  उसमें कटौती हो जाएगी.

इसके अलावा फ्लैट और घर के निर्माण में इस्तेमाल होने वाले अधिकांश निर्माण उत्पाद, पूंजीगत सामान और सर्विसेज पर 18 फीसदी जीएसटी लगता है, जबकि सीमेंट पर 28 फीसदी का जीएसटी लगता है. वहीं यह भी संभव है कि 10 जनवरी की बैठक में सीमेंट के टैक्‍स स्‍लैब पर विचार हो. बता दें कि वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने इस बात के संके‍त दिए थे कि आने वाले दिनों में सीमेंट को भी 28 फीसदी के टैक्‍स स्‍लैब से बाहर किया जा सकता है. इसके साथ ही लघु और मध्यम उद्योगों के लिए कारोबार छूट की सीमा को भी बढ़ाने पर विचार विमर्श हो सकता है.  

जेटली ने क्‍या कहा था

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बीते दिनों कहा था कि अगली बैठक में आवासीय संपत्तियों के लिए टैक्‍स की रेट को तर्कसंगत बनाने और एमएसएमई के लिए छूट सीमा को मौजूदा 20 लाख रुपये से बढ़ाने पर विचार किया जा सकता है.  इसके अलावा काउंसिल में छोटे आपूर्तिकर्ताओं के लिए कंपोजीशन योजना पर भी विचार किया जा सकता है.  लॉटरी पर जीएसटी रेट तय करने पर भी विचार किया जा सकता है.