रायपुर। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी दो दिनी चुनावी दौरे पर छत्तीसगढ़ पहुंचे। कांकेर‍ जिले के पखांजूर में आम सभा को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली में मनरेगा चलाने के लिए 35 हजार करोड़ रुपए पूरे साल के लगते हैं। मनरेगा ने करोड़ों लोगों की जिंदगी बदली है। नरेंद्र मोदी जी ने अपने 10 उद्योगपति मित्रों को 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपए का कर्जा माफ किया है। याने की दस मनरेगा का पैसा अपने दोस्तों को दे दिया।
राहुल गांधी ने कहा कि नीरव मोदी और विजय माल्या देश का पैसा लेकर बाहर भाग गए। माल्या ने इसके पहले वित्तमंत्री से संसद में मुलाकात की थी। अनिल अंबानी को नरेंद्र मोदी ने 30 हजार करोड़ रुपए का गिफ्ट दिया है। इस दौरान उन्होंने राफेल डील पर भी केंद्र सरकार को घेरा। नोटबंदी को लेकर भी राहुल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा, उन्होंने कहा कि लोगों को लाइन में लगकर क्या मिला। 
राहुल ने आरोप लगाया कि उद्योगपतियों के साथ मिलकर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री रमन योजनाओं के जरिए जनता को चूना लगा रहे हैं। छत्तीसगढ़ प्राकृतिक संसाधनों से संपन्न है, लेकिन यहां की जनता को इसका फायदा नहीं मिलता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम डॉ रमन सिंह के 10-15 उद्योगपति मित्र हैं। वे दोनों किसी भी काम को शुरू करने के लिए उन्हीं की सलाह लेते हैं। यह सरकार हर योजना सिर्फ उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए चलाती है।

अपने दो दिवसीय दौरे के दौरान राहुल यहां 6 जगहों पर आम सभाओं को संबोधित करेंगे। इनमें पखांजूर, खैरागढ़, डोंगरगढ़, चारामा, कोंडागांव, जगदलपुर शामिल हैं। इसके अलावा राहुल शुक्रवार की शाम 5 बजे से डॉ रमन के निर्वाचन क्षेत्र राजनांदगांव में रोड शो करेंगे। बता दें कि राज्य में पहले चरण में बस्तर और राजनांदगांव क्षेत्र की 18 सीटों के लिए 12 नवंबर को चुनाव होने वाले हैं और इसके लिए प्रचार प्रसार को दौर शनिवार शाम 5 बजे से थम जाएगा।