नई दिल्ली: भाजपा के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी गुरुवार को 91 वर्ष के हो गएं. इस मौके पर  पीएम मोदी जन्मदिन की बधाई देने के लिए आडवाणी के आवास पर पहुंच चुके हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को भाजपा के वरिष्ठ नेता और सांसद लालकृष्ण आडवाणी को उनके 91वें जन्मदिन के अवसर पर शुभकामनाएं देते हुए कहा कि राष्ट्र निर्माण में उनका बहुत बड़ा योगदान है. मोदी ने टि्वटर पर लिखा, ‘‘भारत के विकास में आडवाणी जी का योगदान बहुत बड़ा है. मंत्री के तौर पर उनके कार्यकाल की प्रशंसा भविष्योन्मुखी निर्णय लेने और जनपक्षधर नीतियों के लिए की जाती है. उनकी विद्वता की प्रशंसा सभी राजनीतिज्ञ करते हैं. ’’ 
एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘‘पार्टी के वरिष्ठ नेता का भारतीय राजनीति पर अमिट प्रभाव पड़ा है. उन्होंने नि:स्वार्थ भावना और सतत परिश्रम से भाजपा को खड़ा किया और आश्चर्यजनक रूप से कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाया.’’ 
बीजेपी के संस्थापकों में से एक आडवाणी को देश के दिग्गज नेताओं में शुमार किया जाता है. इससे पहले वे लोकसभा के 10 वीं और 14 वीं कार्यकाल में विपक्ष के नेता भी रह चुके हैं. 1998 से लेकर 2004 तक एनडीए के शासनकाल में वो देश के गृह मंत्री और उप-प्रधानमंत्री भी रहे हैं. पाकिस्तान के करांची में 9 नवंबर 1927 को जन्में लाल कृष्ण आडवाणी ने अपने राजनितिक सफर की शुरुआत आरएसएस से की थी. बंटवारे के पहले 1947 में वे संघ के कराची शाखा के सचिव भी थें.

साल 1951 में वे भारतीय जन संघ के सदस्य बनें. साल 1970 से 1976 तक वे दिल्ली से राज्यसभा के सदस्य रहें. 1973 में आडवाणी भारतीय जन संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी बनें. साल 1977 जनसंघ के जनता पार्टी में विलय के बाद वो मोरारजी देसाई सरकार में मंत्री भी रहें थें. वहीं बीजेपी के गठन के बाद 1980 से लेकर 1986 तक राष्ट्रीय महासचिव भी रहें. फिलहाल वो गुजरात के गांधीनगर से सांसद और भाजपा के मार्गदर्शन मंडल में शामिल हैं.