नई दिल्ली : महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में अवनि नाम की बाघिन की हत्या का मामला गर्माता जा रहा है. अवनि को पिछले शुक्रवार को महाराष्ट्र के मंत्री के कहने पर एक शिकारी ने मार दिया था. इसके बाद इस मुद्दे पर केंद्र में मंत्री मेनका गांधी के सुर तीखे होते जा रहे हैं. उन्होंने महाराष्ट्र में बीजेपी सरकार के मंत्री सुधीर मुनगंटीवार को हटाने के लिए मोर्चा खोल दिया है. इससे पहले भी उन्होंने इस घटना के बाद मंत्री की तीखी आलोचना की थी. इसके बाद मुनगंटीवार ने कहा था कि कहा कि अवनि को अंतिम विकल्प के तौर पर गोली मारी गयी क्योंकि उसे शांत करने के सारे प्रयास विफल हो गये थे और उसने अधिकारियों पर हमला कर दिया था.

केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने अब महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस को पत्र लिखा है. मेनका ने लिखा, अवनि को बचाया जा सकता था. अगर महाराष्ट्र के वन मंत्री सुधीर मुनगंटीवार थोड़ा थोड़ी संवेदना और धैर्य रखते. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. आपसे निवेदन है कि आप इस मामले में दोषी मानते हुए वन मंत्री को तुरंत हटाया जाए.

इससे पहले मेनका गांधी ने बाघिन के मारे जाने पर महाराष्ट्र सरकार की निंदा की थी. अवनि के दो शावक हैं जो दस महीने के हैं. रालेगांव थानाक्षेत्र के बोराटी जंगल में अवनि अचूक निशानेबाज असगर अली की गोली से मरी. असगर प्रसिद्ध निशानेबाज नवाब शफअत अली के बेटे हैं.

अवनि की मौत पर मेनका ने कई ट्वीट किये और कई पक्षों के विरोध के बावजूद उसे मारने का आदेश देने पर महाराष्ट्र सरकार की कड़ी निंदा की. उन्होंने लिखा, ‘‘जिस तरह से अवनि को यवतमान में निर्दयता से मारा गया मैं उसे बहुत दुखी हूं. यह कुछ नहीं बल्कि सीधा सीधा एक आपराधिक मामला है. कई पक्षों के अनुरोध के बावजूद महाराष्ट्र के वन मंत्री (सुधीर) मुनगंटीवार ने मारने का आदेश दिया.’