नई दिल्ली: माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) द्वारा अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का मुद्दा उठाने को देश की कानून-व्यवस्था एवं शांति बहाली के लिये खतरा बताया है. येचुरी ने आरएसएस नेताओं के मंदिर निर्माण के बारे में दिये गये बयानों का हवाला देते हुये शनिवार को कहा है कि आरएसएस का यह दिखावा मात्र है कि उसकी संविधान में आस्था है.

सीतारमा येचुरी ने आरएसएस की ओर से हाल ही में दिए गए उन बयानों का जिक्र किया है जिसमें मंदिर निर्माण के लिए जरूरत पड़ने पर 1992 की तर्ज पर आंदोलन करने की बात कही गई है.  येचुरी ने ट्वीट कर कहा ‘अब यह साफ हो गया है कि आरएसएस का मकसद सिर्फ देश की संवैधानिक व्यवस्था पर हमला करना है. यह बात आरएसएस के अतीत का अवलोकन करने से भी साबित हो जाती है. 

येचुरी ने पिछले दिनों मुंबई में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की संघ नेताओं के साथ मंदिर मामले को लेकर हुयी मुलाकात से जुड़ी मीडिया रिपोर्टों का जिक्र करते हुये यह बात कही.