मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर के बाद अब बीजेपी नेता अनुसुइया उइके ने कमलनाथ के छिंदवाड़ा मॉडल की तारीफ़ कर अपनी ही पार्टी को असहज स्थिति में खड़ा कर दिया है. दरअसल, राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग की अध्यक्ष अनुसुइया उइके ने कमलनाथ के छिंदवाड़ा मॉडल पर लिखी किताब का छिंदवाड़ा में विमोचन किया. इस दौरान उन्होंने वहां हुए विकास की जमकर तारीफ़ की. उनके अनुसार मध्य प्रदेश के तमाम शहरों में जाती हूं, पूरे देश में घूमती हूं, छिंदवाड़ा सबसे अलग और साफ शहर दिखता है.

वहीं उइके के इस बयान के बाद राजनीतिक घमासान तेज हो गया. मामले में कांग्रेस के मीडिया सेल के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता का कहना है कि अनुसुइया उइके ने सच्चाई बताई है. जबकि बीजेपी ने अनुसुइया उइके को लेकर पल्ला झाड़ लिया है.

बीजेपी प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल के मुताबिक पार्टी अनुसुइया उइके के बयान से इत्तेफाक नहीं रखती. छिंदवाडा के विकास को लेकर कमलनाथ को जिस तरह से प्रोजेक्ट किया जा रहा है वो गलत है. बीजेपी ने उइके के बयान को उनका निजी विचार बताया.
बता दें कि बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर भी कमलनाथ के छिंदवाड़ा विकास मॉडल की तारीफ़ कर चुके हैं. गौर ने विकास मॉडल की तारीफ़ करते हुए कहा था कि कमलनाथ विकास के व्यक्ति हैं. विकास का काम अगर छिंदवाड़ा में हुआ है तो कमलनाथ ने किया है. मध्य प्रदेश के विकास में भी कमलनाथ ने काफी योगदान दिया है.