फिल्म : हैप्पी फिर भाग जायेगी

डायरेक्टर: मुदस्सर अजीज

स्टार कास्ट: सोनाक्षी सिन्हा, जिम्मी शेरगिल , पियूष मिश्रा , डेंजिल स्मिथ ,अपारशक्ति खुराना , डायना पेंटी, अली फजल

अवधि: 2 घंटा 17 मिनट

सर्टिफिकेट: U/A

रेटिंग:  3.5 स्टार

मुदस्सर अजीज ने साल 2016  में लगभग 20 करोड़ के बजट में हैप्पी भाग जायेगी फिल्म बनाई थी, जिसमें एक अरसे के बाद अभिनेत्री डायना पेंटी नजर आई थीं. एक बार फिर से नई स्क्रिप्ट के साथ मुदस्सर ने हैप्पी फिर भाग जायेगी बनाई है, जहां इस बार हैप्पी पाकिस्तान नहीं, बल्कि चीन का सफर तय करने जा रही है. फिल्म में स्टार कास्ट में काफी बदलाव आया है. पढ़िए समीक्षा.

कहानी :

फिल्म की कहानी किसी निजी कारण चीन जा रहे प्रोफेसर हरप्रीत कौर (सोनाक्षी सिन्हा) उर्फ़ हैप्पी और उनके पति गुड्डू यानी अली फजल से शुरू होती है. इसी दौरान हरप्रीत कौर (डायना पेंटी) उर्फ हैप्पी भी स्टेज शो करने चाइना जा रही होती है. कहानी में पवन सिंह बग्गा (जिमी शेरगिल )और पाकिस्तान के अफसर अफरीदी (पीयूष मिश्रा) भी हैप्पी की तलाश में चाइना जाते हैं.

चाइना में खुशवंत सिंह (जस्सी गिल) की मौजूदगी के साथ बहुत सारे उतार चढ़ाव आते हैं और हर तरफ सिर्फ हैप्पी के बारे में ही सवाल पूछे जाते हैं. इस बार हैप्पी के भागने के क्या क्या कारण है और किन-किन परिस्थितियों में वह उलझती है, इन सभी बातों का पता आपको फिल्म देखकर चलेगा.

क्यों देखें

फिल्म की कहानी अच्छी है और दर्शाने का ढंग भी कमाल का है. समय समय पर आने वाले कॉमेडी के पंच आपको जरूर हंसाएंगे. फिल्म की कास्टिंग कमाल की है, जहां एक तरफ सोनाक्षी सिन्हा ,जिम्मी शेरगिल और जस्सी गिल की मौजूदगी इसे और भी दिलचस्प बनाती है तो वहीं पीयूष मिश्रा जी के संवाद और अभिनय से कहानी में मसाला बना रहता है.

जिम्मी शेरगिल और पीयूष मिश्रा  के बीच की जुगलबंदी कमाल की है  वही फिल्म की लिखावट जोरदार है. डेंज़ल स्मिथ ने अदनान नामक किरदार बहुत ही बढ़िया निभाया है जो कि फिल्म के हम किरदारों में से एक हैं. अली फजल और डायना पेंटी की वजह से भी फिल्म में कहानी बढ़ती रहती है, अपारशक्ति खुराना भी अलग अंदाज में इस फिल्म में दिखाई देते हैं ,फिल्म का डायरेक्शन ,सिनेमैटोग्राफी और लोकेशंस बढ़िया है. इसकी एक खासियत है कि जब भी इसमें हंसी के पल आते हैं तो आप पेट पकड़कर हंसते हैं. एक तरह से पूरे परिवार के साथ यह फिल्म देखी जा सकती है.

कमज़ोर कड़ियां

फिल्म की कमजोर कड़ी इसकी रफ़्तार है, जिसे कुछ जगहों पर दुरुस्त किया जाता तो फिल्म और भी क्रिस्प हो जाती. इसके साथ ही फिल्म के गाने भी रिलीज से पहले कमाल नहीं कर पाए हैं.

बॉक्स ऑफिस :

फिल्म का बजट लगभग 25 करोड़ बताया जा रहा है. पिछली फिल्म को मिले रिस्पॉन्स के आधार पर उम्मीद होगी कि इस फिल्म की ओपनिंग बढ़िया हो. सत्यमेव जयते और गोल्ड की पहले से ही बॉक्स ऑफिस पर मौजूदगी,  इस फिल्म के लिए बहुत बड़ा लिटमस टेस्ट हो सकती है. लेकिन मोड ऑफ माउथ इस फिल्म को जरूर आगे ले जाएगा.