नई दिल्ली|  देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई ने अपने खाताधारकों को सुझाव दिया है कि वे अपने पुराने डेबिट कार्ड जल्द बदलवा लें, अन्यथा अगले साल ये डेबिट कार्ड किसी एटीएम में काम नहीं करेंगे। बैंक पुराने डेबिट कार्ड की जगह ग्राहकों को ज्यादा सुरक्षित कार्ड उपलब्ध कर रहा है।

एसबीआई ने अपने ग्राहकों से कहा है कि वे अपने मैगस्ट्रिप डेबिट कार्ड (मैगनेट स्ट्रिप वाले कार्ड) को इलेक्ट्रॉनिक ईएमवी चिप वाले डेबिट कार्ड से बदल लें। ऐसा न होने पर ग्राहक अगले साल से एटीएम से किसी भी तरह का ट्रांजेक्शन नहीं कर सकेंगे। डेबिट कार्ड बदलवाने की डेडलाइन इस साल तक ही है। जिन डेबिट कार्ड्स में किसी तरह की चिप नहीं होती, उन्हें मैगास्ट्रिप कार्ड कहा जाता है। बैंक की ओर से यह कदम आरबीआई के वर्ष 2015 के दिशा-निर्देशों का पालन करने के लिए उठाया जा रहा है। इसमें आरबीआई ने सभी बैंकों को निर्देश दिया था कि वे ग्राहकों को चिप आधारित पिन वाले डेबिट-क्रेडिट कार्ड ही जारी करें। 

धोखाधड़ी से बचाएगी

ईएमवी आधारित चिप तकनीक डेबिट कार्ड से पेमेंट के लिए दुनिया के सबसे सुरक्षित तकनीकों में से एक मानी जाती है। इस नए डेबिट कार्ड में माइक्रोप्रोसेसर चिप लगी होती है, जिसमें ग्राहक से जुड़ी जानकारी पूरी तरह सुरक्षित होती है। यह जानकारी इनक्रिप्टेड होती है, ताकि कोई डाटा की चोरी न कर सके। ईएमवी चिप वाले कार्ड में ट्रांजेक्शन के दौरान ग्राहक को सत्यापित करने के लिए एक यूनिक ट्रांजेक्शन कोड जनरेट होता है, जो वेरिफिकेशन को सर्पोट करता है। मैग्नेटिक स्ट्राइप वाले कार्ड में ऐसा नहीं होता है। 

निशुल्क बदला जाएगा कार्ड

एसबीआई ने कहा है कि ग्राहकों की ओर से अपना पुराना डेबिट कार्ड बदलवाने की प्रक्रिया पूरी तरह सुरक्षित और निशुल्क होगी। इसके लिए किसी तरह चार्ज नहीं लिया जाएगा। ग्राहक कार्ड बदलने का आवेदन नेटबैंकिंग के जरिये, ऑनलाइन तरीके से या बैंक शाखा में जाकर कर सकते हैं। 

यहां करें आवेदन

ईएमवी चिप एसबीआई डेबिट कार्ड को पाने के लिए घर बैठे ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट ऑनलाइनएसबीआई डॉट कॉम पर जाएं और यूजर आईडी व पासवर्ड से इसे खोलें। इसके बाद ई-सर्विस टैब में दिए गए ‘एटीएम कार्ड सर्विस’ पर क्लिक करें। पेज खुलने के बाद निर्देशों का पालन करें और आवेदन प्राप्त करें।