नई दिल्ली, श्रीलंका क्रिकेट टीम के कप्तान दिनेश चांदीमल एक बार फिर मुबीसत में फंस गए हैं। सोमवार को आईसीसी ने बड़ा फैसला लेते हुए चांदीमल सहित श्रींलका क्रिकेट के दो अन्य सदस्यों पर बैन लगाया है। आईसीसी की कार्रवाई के तहत कप्तान चांदीमल, कोच चंडिका हथुरुसिंघा और टीम के मैनेजर असंका गुरुसिन्हा पर कुल छह मैचों का प्रतिबंध लगाया गया है।


आईसीसी ने सोमवार को इन तीनों को खेल भावना को नुकासन पहुंचाने का जिम्मेदार पाया। इसी पर कार्रवाई करते हुए चांदीमल, श्रीलंका के कोच और टीम मैनेजर को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दो टेस्ट और चार वनडे के लिए सस्पेंड कर दिया है। आपको बता दें कि श्रीलंका इस समय दक्षिण अफ्रीका के साथ घरेलू टेस्ट सीरीज खेल रहा है। दो मैचों की इस सीरीज का पहला मैच श्रीलंका 278 रनों से जीत चुका है। लेकिन कोलंबो में होने वाले अगले मैच में अब कप्तान चांदीमल मौजूद नहीं होंगे। इसके बाद 29 जुलाई से दोनों टीमों के बीच पांच वनडे की सीरीज खेली जाएगी।

स्वतंत्र न्यायिक आयुक्त माइकल बेलोफ ने तीनों पर आठ निलंबन अंक लगाये जिसके मायने हैं कि वे दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले चार वनडे और दोनों टेस्ट से बाहर रहेंगे। तीनों को आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन ने 19 जून को आईसीसी आचार संहिता की धारा 2.3.1 के उल्लंघन का दोषी पाया जो खेल भावना के विपरीत आचरण से संबंधित है। आईसीसी के बयान में कहा गया, 'आठ निलंबन अंक के मायने दो टेस्ट, चार वनडे या आठ वनडे और टी 20 से निलंबन है। न्यायिक आयुक्त द्वारा दी गई व्यवस्था के तहत तीनों सहयोगी स्टाफ भी निलंबित रहेंगे।' इन तीनों पर छह डिमेरिट अंक भी लगाये गए हैं। 

गौरतलब है कि चांदीमल लंबे समय से आईसीसी द्वारा सजा झेलते आ रहे हैं। इससे पहले भी उन पर बॉल टैपरिंग के चलते एक मैच का सस्पेंशन लगा था। वो वेस्ट इंडीज के खिलाफ तीसरे टेस्ट से बाहर हो गए थे। इस मामले में दिनेश चांदीमल की अपील खारिज होने के बाद, श्रीलंका ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे और अंतिम टेस्ट के लिए सुरंगा लकमल को टीम की कमान सौंपी थी।