नई दिल्ली,  राजधानी दिल्ली में आर्मी ऑफिसर की पत्नी की हत्या के मामले में नया खुलासा हुआ है. पुलिस ने एकतरफा प्रेम में पागल हो मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा की हत्या करने वाले मेजर निखिल हांडा को 24 घंटे में गिरफ्तार तो कर लिया, लेकिन पुलिस से पहले इस हत्या के बारे में दिल्ली की ही एक महिला को पता लग गया था.


दरअसल यह महिला कोई और नहीं बल्कि मेजर निखिल हांडा की ही एक और गर्लफ्रेंड है. पुलिस निखिल हांडा की इस गर्लफ्रेंड से पूछताछ भी कर चुकी है.


पुलिस सूत्रों के मुताबिक, शैलजा का कत्ल करने के बाद मेजर निखिल हांडा ने अपनी इस गर्लफ्रेंड को फोन कर सबसे पहले हत्या की बात बता दी थी. जानकारी के मुताबिक, मेजर निखिल हांडा की यह गर्लफ्रेंड दिल्ली के ही पटेल नगर इलाके में रहती है.


निखिल हांडा 4 दिन की पुलिस रिमांड पर


शैलजा द्विवेदी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार मेजर निखिल हांडा को पुलिस ने आज पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया. पुलिस ने कोर्ट से हांडा की चार दिन की रिमांड मांगी, जिसे कोर्ट ने मंजूर कर लिया. पुलिस ने कोर्ट से कहा हांडा से अभी इस सिलसिले में पूछताछ करनी है कि हत्या करने के बाद वह किन-किन लोगों से मिला और उन्हें क्या बात बताई. साथ ही पुलिस को हत्या के संबंध में कई चीजें भी बरामद करनी हैं.


पुलिस ने कोर्ट को बताया कि हत्या के समय हांडा के पास दो चाकू थे, लेकिन अब तक सिर्फ एक ही चाकू बरामद हो सका है. इसके अलावा क़त्ल के समय मेजर हांडा ने जो कपड़े पहने थे वो भी बरामद करने हैं. उनके जूते बरामद करने हैं. इतना ही नहीं, वो तौलिया भी बरामद करना है, जिससे मेजर हांडा ने अपनी गाड़ी से खून के निशान साफ किए थे. पुलिस को उसे छाते की भी तलाश है, जो शैलजा अपने साथ लेकर आई थी.


इसके अलावा पुलिस ये जानना चाहती है कि क़त्ल करने के बाद आरोपी कहां-कहां गया, किस-किस से मिला और क़त्ल करने के लिए चाकू कहां से खरीदा. इसके अलावा आरोपी को मेरठ लेकर भी जाना है, जहां से उसे गिरफ्तार किया गया था.


हांडा ने पुलिस को बताया है कि उसने जिस तौलिए से गाड़ी साफ़ की थी और क़त्ल के समय उसने जो कपड़े पहन रखे थे, उसे जला दिया. हालांकि पुलिस को उसकी इस बात पर यकीन नहीं है. पुलिस को शक है कि क़त्ल की बात उसने अपने घर में भी किसी सदस्य को बताई थी.


की थी सबूत मिटाने की कोशिश


पुलिस ने बताया कि हत्या के बाद निखिल हांडा ने सबूत मिटाने की कोशिश भी की थी. इतना ही नहीं निखिल हांडा ने हत्या की इस वारदात को दुर्घटना का रूप देने की भी कोशिश की थी. वारदात के 24 घंटे में गिरफ्तार किए गए निखिल हांडा ने पुलिस ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है.


पुलिस का कहना है कि निखिल हांडा ने हत्या के बाद मेरठ फरार होने के दौरान अपनी कार धुलवाई थी, ताकि खून के निशान मिटा सके. हालांकि फोरेंसिक टीम ने निखिल हांडा की कार से खून के सात नमूने बरामद किए हैं. मैच करने पर ये नमूने शैलजा के ही पाए गए हैं. निखिल हांडा ने शैलजा का मोबाइल भी तोड़कर डस्टबिन में फेंक दिया था, जिसे आज पुलिस ने बरामद कर लिया. इसके अलावा निखिल की कार से पुलिस ने शैलजा के बाल भी बरामद किए हैं.


जबरन करना चाहता था शादी


पुलिस से पूछताछ के दौरान निखिल हांडा ने बताया कि दीमापुर पोस्टिंग के दौरान उसकी अमित द्विवेदी के परिवार से दोस्ती बढ़ी और पिछले तीन साल से उसका शैलजा के साथ प्रेम संबंध चल रहा था. लेकिन शैलजा के पति मेजर अमित को उनके संबंध के बारे में पता चल गया था. मेजर अमित ने शैलजा को मेजर निखिल से संबंध खत्म करने की चेतावनी भी दी थी.


पति से मिली चेतावनी के बाद शैलजा ने मेजर निखिल से अपने संबंध खत्म करना शुरू भी कर दिया था. लेकिन मेजर निखिल शैलजा के प्यार में पागल हो गया था और उससे शादी करना चाहता था. पुलिस ने बताया कि मेजर निखिल इस कदर शैलजा के प्यार में डूबा हुआ था कि उसने पिछले छह महीने के दौरान शैलजा को 3000 से भी अधिक बार कॉल किए थे.


घटना वाले दिन भी मेजर निखिल शैलजा पर शादी के लिए दबाव बना रहा था, लेकिन जब शैलजा नहीं मानी तो उसने चाकू से गला रेतकर उसकी हत्या कर दी.