इंग्लैंड के अहम दौरे से पहले भारतीय टीम को एक झटका लगा है। इंग्लैंड दौरे के लिए टीम में शामिल किए गए बल्लेबाज अंबाति रायुडू अब सीरीज खेलने नहीं जा सकेंगे क्योंकि वो फिटनेस टेस्ट में फेल हो गए हैं। भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए सबसे जरूरी Yo-Yo टेस्ट में हाल में फेल होने वालों में से रायुडू तीसरे भारतीय खिलाड़ी हैं।

शुक्रवार को एक और भारतीय बल्लेबाज टीम के सबसे कठिन लेकिन महत्वपूर्ण यो-यो टेस्ट को क्लीयर नहीं कर पाया और टीम से बाहर हो गया। शुक्रवार को बेंगलुरू के नेशनल क्रिकेट स्टेडियम (NCA) में अंबाति रायुडू का कप्तान विराट कोहली और एम एस धौनी के साथ यो-यो फिटनेस टेस्ट हुआ। इस टेस्ट में रायुडू उम्मीद के मुताबिक अंक नहीं ला सके और इसलिए अब इंग्लैंड के लिए जाने वाले 16 टीम के वनडे स्कॉड में उन्हें जगह मिलना बहुत मुश्किल है। वहीं विराट कोहला और धौनी ने यो-यो टेस्ट को पास कर लिया।

ये खिलाड़ी भी हुए हैं फेल

हाल ही में भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी अफहगानिस्तान टेस्ट मैचे के लिए यो-यो टेस्ट में फेल होने के कारण मैच में नहीं खेल सके। उसी दिन भारत ए टीम के बल्लेबाज संजू सैमसन भी इस टेस्ट को पास नहीं कर सके थे और वो इंग्लैंड दौरे के लिए गई टीम से बाहर कर दिए गए थे।


क्या है Yo-Yo Test

कई 'कोन' की मदद से 20 मीटर की दूरी पर दो पंक्तियां बनाई जाती हैं। एक खिलाड़ी रेखा के पीछे अपना पांव रखकर शुरुआत करता है और निर्देश मिलते ही दौड़ना शुरू करता है। खिलाड़ी लगातार दो लाइनों के बीच दौड़ता है और जब बीप बजती है तो उसने मुड़ना होता है। प्रत्येक एक मिनट या इसी तरह से तेजी बढ़ती जाती है। अगर समय पर रेखा तक नहीं पहुंचे तो दो और 'बीप' के अंतर्गत तेजी पकड़नी पड़ती है। अगर खिलाड़ी दो छोरों पर तेजी हासिल नहीं कर पाता है तो टेस्ट रोक दिया जाता है। ये पूरी प्रक्रिया सॉफ्टवेयर पर आधारित है जिसमें रिजल्ट रिकॉर्ड किए जाते हैं।