नई दिल्ली |  पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का सिलसिला लगातार जारी है। बुधवार को दिल्ली में पेट्रोल 30 पैसे और महंगा होकर 77 रुपए प्रति लीटर को पार कर गया, जबकि वहीं मुम्बई में पेट्रोल के दाम 85 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गए। चारों बड़े महानगरों में पेट्रोल की सर्वाधिक कीमत मुम्बई में है। मुम्बई में पेट्रोल की कीमत बुधवार को 22 पैसे प्रति लीटर और बढ़कर 84.99 रुपए प्रति लीटर हो गई। यहां डीजल भी सबसे महंगा 72.76 रुपये प्रति लीटर है। 


इस बीच कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने पेट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों को लेकर केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम ने दावा किया कि तेल की कीमतें 25 रुपये प्रति लीटर तक कम की जा सकती हैं, लेकिन सरकार अपने फायदे के लिए कीमतें कम नहीं कर रही।


चिदंबरम ने बुधवार को ट्विटर पर कहा, “कीमतें 25 रुपये प्रति लीटर तक कम की जा सकती हैं, लेकिन सरकार ऐसा नहीं करेगी। वे पेट्रोल की कीमत एक या दो रुपये कम करके लोगों को धोखा देंगे।”


चिदंबरम ने कहा कि सरकार को पेट्रोल पर प्रति लीटर 25 रुपये का मुनाफा हो रहा है। इन पैसों पर आम उपभोक्ताओं का हक है।


उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट से प्रति लीटर पेट्रोल पर 15 रुपये बचा रही है और इसके अलावा वह प्रति लीटर पेट्रोल पर 10 रुपये का अतिरिक्त कर भी लगा रही है। 

पेट्रोल, डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी जारी


वहीं, दिल्ली में दोनों ईंधन की कीमत सबसे कम है। यहां पेट्रोल 77.17 और डीजल 68.34 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है।  कोलकाता में कीमतें क्रमश: 79.83 और 70.89 रुपए तथा चेन्नई में 80.11 और 72.14 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच चुकी हैं। दोनों ईंधन की कीमत को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार विपक्ष के निशाने पर है। 


माना जा रहा है कि आज होने वाली कैबिनेट की बैठक में इस पर विचार-विमर्श कर उपभोक्ताओं को राहत देने का कोई रास्ता निकाला जाए। इससे पहले कल भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि सरकार ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर गंभीर है और उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए कदम उठाएगी।