गोरखपुर/तिरूवनंतपुरम: बीआरडी मेडिकल कॉलेज में पिछले साल ऑक्सीजन की कथित कमी से बड़ी संख्या में बच्चों की मौत के मामले में 9 आरोपियों में से एक डॉ. कफील खान केरल के कोझीकोड में निपाह वायरस से प्रभावित मरीजों के लिए कार्य करेंगे. कफील खान ने बताया कि उन्होंने केरल में निपाह वायरस से प्रभावित मरीजों के लिए कार्य करने की इच्छा व्यक्त की थी और इसके लिए केरल के मुख्यमंत्री को ट्वीट कर आग्रह किया था. मुख्यमंत्री ने उनके आग्रह को स्वीकार कर लिया है.

उन्होंने बताया कि उनके ठहरने की व्यवस्था केरल सरकार करेगी. 'मुझे खुशी है कि वहां कार्य करने का मौका मिल रहा है.' बीआरडी मेडिकल कॉलेज में पिछले साल अगस्त में बड़ी संख्या में बच्चों की मौत के बाद कफील सात महीने जेल में रहे. उन्होंने कहा, 'मैं ज​ब जेल में था, तो केरल के लोगों ने सोशल मीडिया पर मुझे समर्थन दिया था और जेल से निकलने के बाद मैं तीन दिन केरल में रहा.'

वहीं, केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ने कहा कि राज्य सरकार को कोझिकोड जिले में कार्य करने को इच्छुक समर्पित चिकित्सकों का स्वागत करने में खुशी होगी. कोझिकोड जिले में निपाह वायरस का कहर जारी है. इस कारण से अब तक 10 लोगों की जान जा चुकी है. डॉक्टर कफील खान के आग्रह के बारे में विजयन ने कहा कि सरकार राज्य में कार्य के लिए खान जैसे डॉक्टरों का खैरमकदम करती है.

विजयन ने एक फेसबुक पोस्ट में केरल में काम करने की इच्छा रखने वाले स्वास्थ्यकर्मियों से कोझिकोड मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक से संपर्क करने का आग्रह किया था.