नई दिल्ली राज्यसभा अब करोड़पतियों का क्लब बनता जा रहा है. राज्यसभा की कई सीटों के लिए चुनाव होने जा रहे हैं और चकित करने वाली बात यह है कि इनके 63 कैंडिडेट (87 फीसदी) की औसत आय 122 करोड़ रुपये है. कैंडिडेट्स के हलफनामे के आधार पर यह आंकड़ा सामने आया है. इनमें से कई करोड़पतियों के राज्यसभा पहुंचने की पूरी उम्मीद है.


समाचार एजेंसी आईएएनएस के अनुसार, इन 63 कैंडिडेट में से 55 करोड़पति हैं (जिनकी कुल संपत्ति 1 करोड़ रुपये से ज्यादा है). कई बहुत धनी कैंडिडेट की वजह से यह औसत बहुत ज्यादा हो गया है.


JD-U कैंडिडेट के पास 4 हजार करोड़ से ज्यादा संपत्त‍ि  


एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक राइट्स (ADR) के विश्लेषण के अनुसार, सबसे धनी कैंडिडेट हैं जनता दल यू के महेंद्र प्रसाद, जिनके जीतने की पूरी संभावना है. महेंद्र प्रसाद के पास 4,078 करोड़ रुपये की संपत्त‍ि है. इसके बाद सपा कैंडिडेट जया बच्चन का स्थान है जिन्होंने अपनी संपदा 1,001 करोड़ रुपये घोषित कर रखी है.


जनता दल सेकुलर कैंडिडेट बी.एम. फारूख के पास 766 करोड़ रुपये की संपत्ति है. इसके बाद 649 करोड़ रुपये की संपत्त‍ि के साथ कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी और 258 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ तेलुगु देशम पार्टी के सी.एम. रमेश का स्थान है.


BJD के सामंत सबसे गरीब


बीजू जनता दल के अच्युतानंद सामंत राज्यसभा के सबसे गरीब कैंडिडेट हैं. सामंत के पास कुल महज चार लाख रुपये की संपत्त‍ि है. इसके बाद सबसे कम संपत्ति रखने वाले कैंडिडेट हैं भारतीय जनता पार्टी के समीर ओरांव जिनकी कुल संपत्ति महज 18 लाख रुपये है.


JDU और TRS के सभी कैंडिडेट करोड़पति


अगर पार्टीवार बात करें तो बीजेपी के 29 में से 26 (90 फीसदी), कांग्रेस के 11 में से 10 (91 फीसदी), तृणमूल कांग्रेस के चार में से तीन (75 फीसदी), तेलंगाना राष्ट्र समिति के तीन में से तीनों (100 फीसदी) और जेडीयू के दो में से दोनों (100 फीसदी) कैंडिडेट करोड़पति हैं.