- पराग छापेकर


स्टार कास्ट: अनुष्का शर्मा, रजत कपूर, परमव्रत चटर्जी आदि


निर्देशक: प्रोसित रॉय


निर्माता: अनुष्का शर्मा व कारनेश शर्मा


हॉरर फ़िल्में हिंदुस्तान में सफलता की गारंटी माना गयी हैं। हॉरर फिल्में करने का ठेका एक तरह से रामशे, रामूज और भट्टस कैंप जैसे चुनिंदा फिल्ममेकर्स के पास ही रहा है। हॉलीवुड में हॉरर एक महत्वपूर्ण जॉनर है मगर हमारे यहां पर हॉरर को कभी भी सम्मान की दृष्टी से नहीं देखा गया। कारण कुछ भी रहा हो मगर सिनेमा प्रेमियों के बीच भी हॉरर फिल्में दोयम दर्जे की ही मानी गई! उसे सम्मान दिलाने का काफी प्रयत्न किया गया हालांकि उसमें अभी इतनी सफलता हासिल नहीं हुई है! इसी कड़ी को बरकरार रखते हुए निर्देशक प्रोसित रॉय की फिल्म 'परी' आई है।


'परी' कहानी है एक ऐसी लड़की रुकसाना की (अनुष्का शर्मा) जो जंगल में अपनी मां के साथ सुनसान झोपड़ी में रहती है। एक दिन उसकी मां की दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है और रुकसाना अर्णव चटर्जी (परम व्रत) जिसके कार से उसकी मां का एक्सीडेंट हुआ था उसके घर नाटकीय घटना के तहत पहुंच जाती है। इस बीच एक खतरनाक और रहस्यमई एक आंख का डॉक्टर रजत कपूर) रुखसाना को मारने के लिए भटक रहा है! उसका मानना है कि रुखसाना खतरनाक शैतान इफरीत की बेटी है। अर्णव के घर रुखसाना का आना बड़ी घटना की निशानी है और क्या वह अपने मकसद में कामयाब होती है? इसी ताने-बाने पर बुनी गई है फिल्म 'परी'।


क्यों देखें?


अनुष्का शर्मा के शानदार परफॉर्मेंस के लिए यह फिल्म देखी जा सकती है अगर आप अनुष्का के फैन है तो जबरदस्त मेहनत करती अनुष्का को देखना वाकई एक अनुभव है! फिल्म के कुछ हिस्से आपको डराने में कामयाब हो जाते हैं। फिल्म की सिनेमेटोग्राफी शानदार है! परी का किरदार जिस तरह से गढ़ा गया है वह सराहनीय है!


क्यों ना देखें?

रामसे ब्रदर्स की सिनेमा का दौर अगर आपको याद हो तो उसका सबसे बड़ा भूत था साबरी! साबरी एक ऐसा शैतान था जो दुनिया को तबाह करने के लिए अपने चेले तैयार करता था और उसके बनाये भूत दुनिया का खून पीते थे! कुछ इसी तरह परी में साबरी की जगह इफरित आ गया है। रामसे ब्रदर्स की फिल्म में अगर कोई बड़ा स्टार आ जाता तो किस तरह की फिल्म बनती कुछ वैसी ही है 'परी'। बिखरा-बिखरा स्क्रीनप्ले फिल्म का हॉरर एलिमेंट कम करता है। आखिर रुखसाना चुड़ैल क्यों है? एक आंख वाला डॉक्टर उसे मारने के लिए क्यों पीछे पड़ा है? इसके पीछे की कहानी काफी उलझी हुई है!


कुल मिलाकर परी एक सामान्य हॉरर फिल्म है, जिसमें अनुष्का शर्मा जैसा बड़ा स्टार है और जो फिल्म में काफी मेहनत करती नजर आती है! अनुष्का शर्मा को निकाल दिया जाए तो 'परी' रामसे ब्रदर्स की फिल्म की ही तरह आज के दौर की रामसे ब्रदर्स की फिल्म है। हालांकि इसे आधुनिक ट्रीटमेंट देने की कोशिश की गई है मगर कोई खास सफलता हासिल नहीं हुई है।


जागरण डॉट कॉम रेटिंग: 5 में से 2 (दो) स्टार


अवधि: 2 घंटे 14 मिनट