बैतूल ।बोरदेही-मुलताई सड़क मार्ग पर बुधवार दरमियानी रात को हुए एक भीषण सड़क हादसे में मौके पर ही सात लोगों की दर्दनाक मौत हो गई।

 

मुलताई। बैतूल जिले के बोरदेही थाना क्षेत्र में बोरदेही-मुलताई सड़क मार्ग पर बुधवार-गुरुवार की दरमियानी रात को हुए एक भीषण सड़क हादसे में मौके पर ही सात लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। वहीं हादसे में दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए नागपुर ले जाया गया। घटना मुलताई से 18 किलोमीटर दूर बोरदेही मार्ग पर ग्राम बाम्हनवाड़ा के पास होना बताई गई। बताया गया कि नागपुर से दो बाइक से आए विपुल वाघमारे मोहन निपटे सोहेल एवं आदित्य दुर्घटना ग्रस्त हो गए थे, जिनकी मदद के लिए मुलताई से खेड़ली कार से जा रहे दीपक साहू निवासी छिंदवाड़ा और उनका खेड़ली निवासी ***** रुका। घटना की गंभीरता को देखते हुए उन्होंने मदद के लिए खेड़ली जाकर विनायक पारखे गोविन्द गोस्वामी शुभम बिहारिया तथा शिवराम पवार को भी साथ ले आए। सब मिलकर घायलों को सड़क से उठा ही रहे थे की इसी दौरान बोरदेही की ओर तेजी से जा रहा डम्फर क्रमांक एमपी 53 एचए 1480 सभी को कुचलते हुए पलट गया। जिससे शिवराम विनायक गोविन्द शुभम मोहन सोहेल और आदित्य की मौके पर ही मौत हो गई। घटना की सूचना मिलते ही बोरदेही और मुलताई पुलिस सहित एएसपी घनश्याम मालवीय मौके पर पहुंचे। जहां जेसीबी और पोकलेन मशीन से डम्फर के नीचे दबे लोगों को निकाला गया। रात 3 बजे तक शवो को मुलताई पहुंचाया गया। दुर्घटना में विपुल और दीपक की हालत गंभीर है जिन्हें नागपुर अस्पताल ले जाया गया है। इस बड़े हादसे से पुरे क्षेत्र में शोक की लहर है।

भीषण हादसा देखकर दहला दिल

भीषण हादसे की जो तस्वीरे सामने आई है उसे देखकर अच्छे खासों का दिल भी दहल गया। डम्फर पलटने के कारण लोगों के शव पूरी तरह से क्षतविक्षप्त हो गए थे। जिन्हें चादर में समेटकर उठाया गया। शवों की निशाख्त करना भी मुश्किल था। इस हादसे के बाद आसपास के ग्रामीण मदद के लिए बड़ी संख्या में पहुंच गए थे। देर रात तक शवों को हटाने एवं घायलों को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाने का कामकिया गया। मौके पर बड़ी संख्या में पुलिस बल भी मौजूद था। 

रेत के अंदर दबे मिले शव

रेत से भरे डंपर के पलटने के कारण तीन लोग डंपर के अंदर रेत में दब गए थे। घटना के तत्काल बाद जेसीबी की मदद से डंपर को हटाया गया लेकिन लोग दिखाई नहीं दिए। रेत को जेसीबी से हटाए जाने के बाद लोगों के शव क्षप्त विक्षप्त हालत में पड़े मिले। जिन्हेंग्रामीणों की मदद से बाहर निकाला गया। 

मुख्यमंत्री ने किया ट्विीट कर जताया शोक

मुलताई के बोरदेही में हुए भीषण सड़क हादसे में सात लोगों की मौत के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्विीट कर घटना के प्रति शोक व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने अपने ट्विीट में लिखा है कि बैतूल सड़क हादसे में सात अनमोल जिंदगियों को उनके अपनो से छीन लिया । यह बहुत पीड़ादायी है। ईश्वर दिवंगत आत्माओं की शांति और परिजनों को संबल प्रदान करने की प्रार्थना करता हू ।