इंदौर । शहर में तापमान में कमी के साथ ही प्रदूषण का स्तर भी बढ़ रहा है। प्रदूषण नियंत्रण विभाग की नवंबर के अंतिम सप्ताह से दिसंबर के पहले सप्ताह तक की प्रदेश के प्रमुख शहरों की रिपोर्ट में इसका खुलासा हुआ है। हालांकि अच्छी बात यह है कि अभी यह आंकड़ा नियंत्रण में ही है।

 

विभाग के अधिकारियों के मुताबिक इंदौर में एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) बढ़ रहा है, लेकिन अभी भी यह नियंत्रण की स्थिति में है। ठंड में हर साल ऐसा होता है, इसलिए चिंता की बात नहीं है। मौसम विशेषज्ञों के मुताबिक ठंड बढ़ने के साथ हवा में धूल कण भी बढ़ते हैं।

 

रात को कोहरा होने से ये ऊपर नहीं उठ पाते हैं। वहीं दिन में कोहरा और धुंध होने से धूल कण काफी देर नीचे ही रहते हैं। विशेषज्ञों ने बताया कि ठंड में प्रदूषण बढ़ने के साथ ही पुराने मरीजों के लिए परेशानी शुरू हो जाती है। श्वास और त्वचा के मरीजों को अपना उपचार बंद नहीं करना चाहिए। साथ ही धूल-धुएं व अलाव से भी बचना चाहिए। धूल में मुंह पर कपड़ा बांधें व ठंड से बचाव करें।

 

ये है एक्यूआई

 

एक्यूआई में हवा की गुणवत्ता की 6 श्रेणियां हैं। इसे अच्छी, संतोषजनक, थोड़ा प्रदूषित, खराब, बहुत खराब और गंभीर में बांटा गया है। एक्यूआई निकालने के लिए विभाग पीएम 10 (हवा में धूल के कण), पीएम 2.5, नाइट्रोऑक्साइड, सल्फर ऑक्साइड, ग्राउंड लेवल ओजोन सहित 3 अन्य तत्वों की मॉनिटरिंग करता है।

 

ऐसे बढ़ता गया एक्यूआई

 

7 दिसंबर 97.55

 

6 दिसंबर 97.55

 

5 दिसंबर 96.92

 

4 दिसंबर 96.93

 

3 दिसंबर 100.39

 

1 दिसंबर 83.93

 

नवंबर की स्थिति

 

30 नवंबर 83.93

 

29 नवंबर 83.93

 

28 नवंबर 79.23

 

27 नवंबर 87.06

 

26 नवंबर 88.66

 

25 नवंबर 79.26

 

(एक्यूआई 100 से कम होने पर स्थिति नियंत्रण में है। वहीं 50 से कम होने पर कम प्रदूषण माना जाता है, आंकड़े प्रदूषण विभाग की वेबसाइट से प्राप्त।)