पाकिस्तान ने अपनी जेल में बंद भारतीय कैदी कुलभूषण जाधव की पत्नी को उनसे मिलने देने की पेशकश की है. लेकिन इस पेशकश पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा है कि एक तो उनकी मां को पाक जाने की अनुमति देने का प्रस्ताव लंबित है और दूसरे पाकिस्तान उनकी मां-पत्नी की सुरक्षा सुनिश्चित करे, तभी उन्हें भेजा जा सकता है.

 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, 'कुलभूषण जाधव की मां का पाकिस्तान जाकर अपने बेटे से मिलने का अनुरोध काफी समय से लंबित है. यह अभी लंबित ही है, फिर भी उनकी पत्नी को भेजने के पाकिस्तान के पेशकश पर हमने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी है. हमने पाकिस्तान सरकार को बता दिया है कि कुलभूषण जाधव की पत्नी अपनी सास के साथ पाकिस्तान जाना चाहती हैं. लेकिन हम पाकिस्तान सरकार से दोनों की सुरक्षा की गारंटी चाहते हैं. साथ ही यह गारंटी भी चाहते हैं कि दोनों के पाकिस्तान में ठहरने के दौरान उनसे किसी तरह का सवाल नहीं किया जाएगा और उन्हें प्रताड़‍ति नहीं किया जाएगा.'  

 

कूलभूषण जाधव के मामले में पाकिस्तान ने मानवता के अधिकार पर भारत को जाधव की पत्नी से मुलाकात के लिए प्रस्ताव दिया है. पाकिस्तान इस संदर्भ में कुलभूषण जाधव की उनकी पत्नी से मुलाकात करवाएगा.

 

क्या है कुलभूषण का मामला

 

पाकिस्तान की एक सैन्य अदालत ने अप्रैल में 46 वर्षीय जाधव को जासूसी और आतंकी गतिविधियों में कथित तौर पर संलिप्त होने के आरोप में मौत की सजा सुनाई थी. इसके बाद मई में भारत की अपील पर अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने उनकी फांसी पर रोक लगा दी थी.