मुंबई। बतौर कप्तान अपना आखिरी मैच खेल रहे महेंद्र सिंह धोनी को जीत नहीं मिल सकी। धोनी की धमाकेदार पारी और अंबाती रायडु के शतक पर इंग्लैंड के सैम बिलिंग्स ने 93 रन की पारी खेलकर पानी फेर दिया। पहले अभ्यास क्रिकेट मैच में इंग्लैंड ने भारत ए को तीन विकेट से हराकर सीमित ओवरों के अपने दौरे की शानदार शुरुआत की।

धोनी की खातिर ब्रेबोर्न स्टेडियम में भारी संख्या में दर्शक पहुंचे थे। दर्शकों ने भारतीय पारी के दौरान रायुडु (100) का आकर्षक शतक, शिखर धवन (65) की फार्म में वापसी, युवराज सिंह (56) का पुराना रूप और धोनी (नाबाद 68) का धमाल देखा। धोनी ने डेथ ओवरों में ताबड़तोड़ रन बटोरने की अपने कौशल को खुलकर दिखाया जिससे भारत ए पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर पांच विकेट पर 304 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा करने में सफल रहा।

इंग्लैंड एकादश को जैसन राय (62) और एलेक्स हेल्स (40) ने पहले विकेट के लिये 95 रन जोड़कर अच्छी शुरुआत दिलायी। इसके बाद बिलिंग्स ने जोस बटलर (46) के साथ 79 रन और लियाम डासन (41) के साथ 99 रन की दो उपयोगी साझेदारियां की जिससे इंग्लैंड ने 48.5 ओवर में सात विकेट पर 307 रन बनाकर जीत दर्ज की।

भारत की तरफ से चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने प्रभावशाली गेंदबाजी की। उन्होंने 60 रन देकर पांच विकेट लिये। यह महज एक अभ्यास मैच था, लेकिन संभवत: आखिरी बार किसी मैच में कप्तानी कर रहे धोनी को देखने के लिये बड़ी संख्या में दर्शक स्टेडियम में पहुंचे थे। हाल में सीमित ओवरों की कप्तानी छोड़ने वाले इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने भी अपने प्रशंसकों को निराश नहीं किया तथा 40 गेंद की अपनी पारी में आठ चौके और दो छक्के लगाये।

धोनी ने डेविड विली पर लगातार दो चौके जड़कर अपने हाथ खोले और क्रिस वोक्स जब पारी का आखिरी ओवर करने के लिये आये तो उसमें 23 रन बटोरे। उन्होंने इस ओवर में दो छक्के और दो चौके जड़कर अपना अर्धशतक पूरा करने के साथ ही टीम का स्कोर भी 300 रन के पार पहुंचाया।

इंग्लैंड ने 17 रन के अंदर तीन विकेट गंवाये जिससे उसका स्कोर तीन विकेट पर 112 रन हो गया। बिलिंग्स और बटलर ने यहीं से जिम्मेदारी संभाली और चौथे विकेट के लिये 79 रन की साझेदारी की। कुलदीप ने बटलर और मोईन अली को तीन गेंद के अंदर पवेलियन भेजकर भारत को फिर से वापसी दिलायी। बिलिंग्स को हालांकि डासन के रूप में अच्छा सहयोगी मिला। इन दोनों ने रणनीतिक बल्लेबाजी की और भारत ए की उम्मीदों पर पानी फेरा।

बिलिंग्स जब 82 रन पर थे तब युवराज ने कुलदीप की गेंद पर उनका मुश्किल कैच छोड़ा। कुलदीप ने डासन को अपनी ही गेंद पर कैच करके यह साझेदारी तोड़ी, जबकि हार्दिक पंड्या ने अगले ओवर में बिलिंग्स को बोल्ड करके उन्हें शतक पूरा नहीं करने दिया लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। इंग्लैंड अपना दूसरा अभ्यास मैच भारत ए के खिलाफ 12 जनवरी को इसी मैदान पर खेलेगा।