ब्राजील के अमजोनस राज्य की राजधानी की एक जेल में कम से कम चार कैदियों की मौत हो गई जिन्हें मिला कर जेल में हिंसा से होने वाली कैदियों की मौत का आंकड़ा एक सप्ताह में 100 से ऊपर जा चुका है। कैदियों की बहुतायत वाली जेलों में मादक पदार्थ के धंधे में लिप्त प्रतिद्वंदी गिरोहों के बीच हिंसा अक्सर हो जाती है।

क्या है कैदियों के मौत का कारण?
राज्य के जन सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि मनौस जेल में रविवार को चार कैदियों की मौत अस्पष्ट परिस्थतियों में हुई। मादक पदार्थों की तस्करी वाले दो बड़े गिरोह फर्स्ट कैपिटल कमांड (पीसीसी) और रेड कमांड (सीवी) के बीच जुलाई में संघर्षविराम संधि टूट जाने के बाद जेलों में बड़े पैमाने पर दंगे शुरू हो गए।

देश में शुक्रवार को रोराइमा राज्य के मोंटे क्रिस्टो फार्म जेल (पीएएमसी) में भयानक नरसंहार हुआ। जिसमें 31 कैदियों की मौत हो गई। इससे पहले मनौस जेल में 17 घंटे तक चले खूनी संघर्ष में 56 कैदियों की मौत हो गई थी।

राज्य की सबसे बड़ी जेल पीएएमसी में प्रतिद्वंदी गिरोहों के बीच अक्टूबर में भड़की हिंसा में 10 कैदी मारे गए थे। मौजूदा समय में इस जेल में 1,400 कैदी हैं, जो कि इसकी क्षमता से दोगुना है।