नई दिल्लीः दुनिया में कुछ लोग ऐसी अजीबोगरीब बीमारियों से पीड़ित रहते हैं, जिनका आपने नाम भी नहीं सुना होगा। भारत के ओडिशा में रहने वाले 7 महीने के इस बच्चे के साथ भी कुछ एेसा ही है। Hydrocephalus नाम की बीमारी की वजह से उसका सिर इतना बड़ा हो गया कि उसे दुनिया के सबसे बड़े सिर वाला बच्चा कहा जाता है। इस बीमारी के कारण मृत्युंजय दास नाम के इस बच्चे के सिर में करीब 5 लीटर तरल पदार्थ भर गया था, जिसके कारण उसके सिर का साइज काफी बड़ा हो गया था। हाल ही में भुवनेश्वर के एम्स हॉस्पिटल में हुए ऑपरेशन में उसके सिर से करीब 4 लीटर फ्लूइड निकाला गया है। जिसकी वजह से उसके सिर का साइज 26 सेंटीमीटर तक घटा है। इसके लिए मृत्युंजय को 6 हफ्तों का ट्रीटमेंट लेना पड़ा।

क्या है Hydrocephalus?
इस बीमारी में इंसान के सिर के अंदर काफी ज्यादा पानी भर जाता है। जिसके कारण उसका सिर तरबूज की तरह फूल जाता है। अगर समय रहते इसका इलाज नहीं करवाया जाए, तो इंसान की जान भी जा सकती है। मृत्युंजय के माता-पिता का कहना है इस सर्जरी के बाद अब उनके पड़ोसी शायद उनके बच्चे को भूत बुलाना बंद कर देंगे। डॉक्टर्स ने मृत्युंजय के सिर को परफेक्ट साइज में लाने के लिए कुछ और सर्जरी करने का फैसला किया है। चूंकि अभी उसकी उम्र काफी कम है, इसलिए डॉक्टर्स धीरे-धीरे उसका इलाज करना चाहते हैं। फिलहाल, एक आपरेशन के बाद मृत्युंजय अस्पताल में रिकवर कर रहा है।