भारत द्वारा हाल ही में अंतर महाद्वीपीय मिसाइल अग्नि 4 के सफल परीक्षण से पडोसी चीन भड़का हुआ है। भारत की सफलता को लेकर चीन की बौखलाहट का आलम ये है कि वह अब सरकारी मीडिया के द्वारा अपनी भड़ास निकालने में लगा है।
 
चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में इस मुद्दे पर एक लंबा चौड़ा संपादकीय लिखा गया है, जिसमें भारत को चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर भारत अपनी परमाणु महत्वाकाक्षाएं इसी तरह जारी रखता है तो चीन ऐसी मिसाइलों के निर्माण में पाकिस्तान की मदद कर सकता है।

संपादकीय में लिखा गया है कि जिस तरह भारत संयुक्त राष्ट्र द्वारा निर्धारित परमाणु क्षमताओं और लंबी दूरी की मिसाइलों के निर्माण की लिमिट को दरकिनार कर अपनी क्षमताओं का विस्तार करता जा रहा है ऐसे में इसका लाभ पाकिस्तान को भी मिलना चाहिए। लेख में कहा गया है कि अब चीन को भी ऐसी मिसाइल तैयार करने के लिए पाकिस्तान की मदद करनी चाहिए, जिससे दोनों देशों के बीच शक्ति संतुलन कायम रह सके।

चीन ने अमेरिका पर भी साधा निशाना, कहा भारत के ‌लिए ढीले किए नियम

लेख में इस बात पर भी आपत्ति जताई गई कि अमेरिका जैसे विकसित देशों ने भारत को फायदा पहुंचाने के लिए अपने नियमों में भी ढील दे दी है। लेख में आरोप लगाया गया कि भारत अपनी परमाणु क्षमताओं में वृद्िध से संतुष्ट नहीं है और वो ऐसी अंतर महाद्वीपीय मिसाइल बनाना चाहता है जिसकी ‌जद में पूरी दुनिया के देश आ जाएं, इसके बाद वह संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद के पांच स्‍थायी सदस्य शों में अपनी दावेदारी करेगा।

लेख में चेताया गया है कि चीन का एहसास होना चाहिए कि बीजिंग लंबी दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों के मामले में भारत के विकास को पकड़ नहीं पाएगा। 

बता दें कि भारत द्वारा हाल ही में 5 हजार किलोमीटर की मारक क्षमता वाली अंतर महाद्वीपीय मिसाइल अग्नि 5 के परीक्षण से चीन बौखलाया हुआ है। वह गाहे बगाहे इस मुद्दे पर भारत पर हमला करने का कोई मौका नहीं छोड़ रहा है। यहां तक की खुद खुलकर न कहने की स्थिति में वह सरकार संचालित मीडिया को आगे कर इस मुद्दे पर भारत के खिलाफ माहौल बनाने के प्रयास में लगा है।