बीसीसीआई के विद्रोही तेवरों के प्रति कड़ा रवैया अपनाते हुए सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को उसके अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और सचिव अजय शिर्के को उनके पदों से हटा दिया और कहा कि उन्हें तुरंत प्रभाव से बोर्ड का कामकाज करना बंद कर देना चाहिए।

अनुराग ठाकुर के हटाए जाने के बाद से चारों तरफ यह चर्चा होने लगी है कि बीसीसीआई का अगला अध्यक्ष कौन होगा।

इंग्लैंड और भारत के बीच तीन वनडे मैचों की सीरीज के शुरू होने में ज्यादा दिन नहीं बचे हैं। यह सीरीज इसी 16 तारीख से खेली जानी है, इसलिए जरूरी है कि जल्द ही अध्यक्ष के नाम पर फैसला किया जाए।

इसके लिए कई नामों पर विचार किए जा रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे पहला नाम सौरव गांगुली का है।

गांगुली के अलावा वेस्ट जोन के वाइस प्रेजिडेंट टी.सी मैथ्यू और गौतम रॉय भी इस दौड़ में शामिल हैं। इसके अलावा झारखंड क्रिकेट एसोसिएशन के वर्तमान जॉइंट सेक्रेटरी अमिताभ चौधरी शिर्के की जगह ले सकते हैं।

डॉ जी गंगराजू (साउथ जोन के वाइस प्रेसिडेंट), सीके खन्ना (वाइस प्रेसिडेंट सेंट्रल जोन) और एमएल नेहरू (वाइस प्रेसिडेंट नॉर्थ जोन) ये तीनों ही नाम नए नियमों के अनुसार फिट नहीं बैठते हैं।

प्रधान न्यायाधीश टीएस ठाकुर की अध्यक्षता वाली बेंच ने कहा कि बीसीसीआई की कार्यप्रणाली प्रशासकों की एक समिति देखेगी। कोर्ट ने एमिकस क्यूरी के रूप में कोर्ट की मदद कर रहे वरिष्ठ वकील फली एस नरीमन और गोपाल सुब्रमण्यम से समिति के लिए नाम चयन करने में कोर्ट की मदद करने मांग की है। समिति के लिए नाम चुने जाने का काम 2 सप्ताह में पूरा किया जाना है। 19 जनवरी को प्रशासकों की समिति में शामिल किए जाने वाले नामों के बारे में सुनवाई की जाएगी।