रायपुर जिला के 98 पंचायत प्रतिनिधियों पर पद से निष्कासन की तलवार लट गयी है. वैसे तो नियमानुसार ये जनप्रतिनिधि खुद ही अपने पद से निष्कासित हो चुके हैं फिर भी जिला प्रशासन ने इन्हें पद पर बने रहने का एक मौका दिया है.

यदि जल्द ही इन्होंने नियम का पालन नहीं किया तो इनका पद से हाथ धो बैठना तय है.

ये सभी पंचायत प्रतिनिधि अभनपुर विकासखंड के पंच और उपसरपंच हैं. इनमें 93 पंच और 5 उपसरपंच शामिल हैं. इन पंचायत प्रतिनिधियों ने निर्वाचन के एक साल बाद भी अपने घरों में शौचालय का निर्माण नहीं करवाया है.

पंचायत प्रतिनिधी अगर अपने घरों में शौचालय का निर्माण नहीं करवाते हैं तो यह नियम के खिलाफ होगा. इसके तहत ये भी प्रवाधान है कि अगर तय समय में कोई पंचायत प्रतिनिधि शौचालय नहीं बनवाते हैं तो वो उन्हें पद से निष्काषित माना जाएगा.

लोकिन एसडीएम ने धारा 36 का हवाला देते हुए इन्हें जल्द से जल्द अपने घरों में शौचालय बनाने का नोटिस जारी करने के निर्देश जनपद सीईओ को दिए हैं. यदि जल्द ही इन्होंने अपने घरों में शौचालय निर्माण नही किया तो इनका पद से जाना तय है.