नई दिल्लीः नोटबंदी के 50 दिन बीतने और साल खत्म होने के साथ ही अब स्थिति कुछ स्पष्ट हुई है। उम्मीद की जा रही है कि आने वाले महीनों में आम जनता को ए.टी.एम. व बैंक की लाइनों से राहत मिल सकती है।

ए.टी.एम. से पैसे निकालने की सीमा में ढील
आम आदमी को राहत प्रदान करते हुए रिजर्व बैंक ने कहा है कि एक जनवरी से ए.टी.एम. से रोजाना 2,500 रुपए की जगह 4,500 रुपए तक निकाले जा सकेंगे। हालांकि, पैसे निकालने की साप्ताहिक सीमा में कोई बढ़ौतरी नहीं की गई है, सप्ताह में अधिकतम केवल 24,000 रुपए ही निकाले जा सकते हैं।

प्रवासी भारतीयों के लिए जमा सीमा बढ़ाई गई
शुक्रवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने नोटबंदी से जुड़े एक अध्यादेश पर हस्ताक्षर किए, इसके तहत अब प्रवासी भारतीयों को 30 दिसंबर की बजाए 30 जून तक पैसे जमा करने की छूट दी गई है। इसके अलावा वे भारतीय जो 8 नवंबर से 30 दिसंबर के बीच भारत से बाहर थे वे भी 31 मार्च तक 25,000 रुपए तक जमा करा सकते हैं।

बड़ा भीम
शुक्रवार को प्रधानमंत्री ने एकीकृत भुगतान इंटरफेस (UPI) के लिए एक मोबाइल ऐप्लिकेशन का शुभारंभ किया। यह एप्प सभी बैंकों और वित्तीय संस्थाओं में आम हो जाएगा। भीम ऐप के माध्यम से लोग आसानी से लेन-देन कर सकेंगे। उन्हें अपने खाते को यूपीआई पिन के जरिए इस एप्प से जोड़ना होगा। यह एप्प किसी भी फीचर फोन में भी काम करेगा। जिसके लिए इंटरनैट की आवश्यकता नहीं होगी। फीचर फोन में USSD के माध्यम से काम होगा।

रिजर्व बैंक ने मोबाइल वॉलिट लिमिट बढ़ाई
रिजर्व बैंक ने केंद्रीय बैंक के द्वारा प्री-पेड भुगतान उपकरणों के लिए दिशा-निर्देशों की समीक्षा करने तक मोबाइल वॉलिट में 20,000 रुपए रखने की समयसीमा को बढ़ा दिया है। 22 नवंबर को रिजर्व बैंक ने प्री-पेड वॉलिट और कार्ड में रखे जाने वाले बैलेंस को दोगुना करर दिया था। नियामक ने व्यापारियों के लिए यह भी कहा था कि व्यापारी प्री-पेड पेमेंट के जरिए अपने खाते में 50,000 रुपए तक जमा कर सकते हैं।