मध्य प्रदेश के उज्जैन सिविल अस्पताल से 55 वर्षीय एक कैदी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया. कैदी को इलाज के लिए अस्पताल लाया गया था, जहां से मौका पाकर वह भाग निकला.

जानकारी के अनुसार, केंद्रीय जेल भैरवगढ़ से शनिवार सुबह चार कैदियों को इलाज और नियमित चैकअप के लिए सिविल अस्पताल लाया गया था. अस्पताल में कैदियों की जांच चल रही थी. इस दौरान सुरक्षाकर्मियों की सुस्ती का फायदा उठाकर 55 वर्षीय रामरतन फरार हो गया.

रामरतन को हत्या के मामले में सजा हुई थी. कुछ ही समय में उसकी सजा पूरी होना थी, लेकिन इसके पहले वह फरार हो गया.

कैदियों को अस्पताल लाने के लिए पुलिस लाइन के 8 जवानों की ड्यूटी लगी हुई थी. फिर भी रामरतन सभी की आंखों में धूल झोंककर भाग निकला.