गुजरात के समित गोहिल रन मशीन के तौर पर उभरकर सामने आए हैं. उन्होंने बतौर ओपनर नाबाद रहते ऐतिहासिक पारी खेलते हुए 117 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया है. ये कारनामा उन्होंने प्रथम श्रेणी के मैच में किया है.

जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में ओडिशा के खिलाफ खेले गए रणजी क्वार्टर फाइनल में उनके बल्ले से इतने रन बरसे कि 117 साल का रिकॉर्ड टूट गया और एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है. उन्होंने बल्लेबाजी करते हुए 359 रनों की नाबाद पारी खेली है.

45 चौके की मदद से बनाए रन

समित गोहिल ने अपने चिर-परिचत अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए 359 रन की नाबाद पारी खेली, जिसमें उन्होंने 45 चौके और 1 छक्का जड़ा. इसके लिए उन्होंने 723 गेंदों का सामना किया. इतने बड़े स्कोर को बनाने के लिए उन्होंने क्रीज पर लगभग 16 घंटे तक पसीना बहाया. प्रथम श्रेणी में गुजरात की तरफ से पहली पारी में ऐसा करने वाले वे पहले बल्लेबाज बन गए हैं.

3 शतक लगा चुके हैं गोहिल

समित गोहिल इस सीजन में सबसे बड़ी पारी खेलने वाले बल्लेबाज बनने के साथ ही एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले गुजराती बन गए हैं. उन्होंने अब तक 28 प्रथम श्रेणी के मैच खेले हैं, जिनमें तीन शतक जड़े हैं. इसके अलावा समित इस रणजी सत्र में अब तक 822 रन बना चुके हैं.

राहुल द्रविड़ हैं आदर्श

इस उभरते हुए युवा सलामी बल्लेबाज के आदर्श राहुल द्रविड़ हैं. गोहिल ने बताया कि मैं उनकी मेहनत और लगन का कायल हूं. खासतौर पर टेस्ट क्रिकेट का. मैं हमेंशा क्रीज पर अपना नेचुरल गेम खेलता हूं और कोशिश करता हूं कि कोई लूज शॉट ना खेलूं जिससे मुझे अपना विकेट गंवाना पड़े.

पहले इनके नाम था ये रिकॉर्ड

पहले ये रिकॉर्ड प्रथम श्रेणी में इंग्लैंड की काउंटी सरे के बल्लेबाज बॉबी एबेल के नाम था. उन्होंने 1899 में समरसेट के खिलाफ नाबाद 357 रन बनाए थे. वहीं बतौर ओपनर इस श्रेणी में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड पाकिस्तान के हनीफ मोहम्मद के नाम दर्ज है, जिन्होंने 499 रन बनाए थे, लेकिन वे आउट को गए थे. इसके अलावा प्रथम श्रेणी में नॉटआउट रहते हुए 501 रन बनाने का रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के ब्राइनलारा के पास है, जिसे आजतक किसी ने नहीं तोड़ पाया है.

ऐसे सेमीफाइन में पहुंचा गुजरात

गुजरात और ओडिशा के बीच रणजी क्वार्टर फाइनल मैच खेला जा रहा था, जो मंगलवार को ड्रॅा हो गया, लेकिन पहली पारी की बढ़त के आधार पर गुजरात ने जीत दर्ज करते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया. गुजरात ने पहली पारी में 263 रन बनाए थे, जबकि ओडिशा 199 पर ही सिमट गई थी. इसके बाद दूसरी पारी में गुजरात ने 641 रन बनाए और ओडिशा ने दूसरी पारी में एक विकेट के नुकसान पर 81 रन बना लिए थे, जिसके बाद मैच ड्रॉ घोषित कर दिया गया.