मध्य प्रदेश के ग्वालियर में पैसे के लालच में एक दोस्त ने अपने ही कुंवारे दोस्त की नसबंदी करा दी. नसबंदी का ये ऑपरेशन ग्वालियर के नजदीक भिंड में कराया गया.

ऑपरेशन के बाद युवक को 100 रुपए देकर ग्वालियर जाने के लिए बस में बैठा दिया. कुंआरे युवक ने ग्वालियर आकर परिजन के साथ हजीरा थाने में शिकायती आवेदन दिया है.

ग्वालियर के चंदन नगर में रहने वाला कमलेश (बदला हुआ नाम) प्लास्टिक के कारखाने में काम करता है. कमलेश शराब पीने का आदि है जिससे घरवाले भी परेशान थे.

कमलेश को उसके दोस्त राजू ने बताया कि भिंड में शराब छुड़ाई जाती है. राजू ने कहा कि पहले उसे वह मेडिकल चैकअप के लिए ले जाएगा. उसके बाद डॉक्टर दवा देंगे और शराब की लत छूट जाएगी.

दोस्त राजू पर यकीन कर कमलेश भिंड गया, जहां राजू ने कथित तौर पर कमलेश को नशीली दवा मिली शराब पिलाई. कमलेश बेहोश हो गया जब होश आया तो उसे पता चला कि उसकी नसबंदी हो चुकी थी.

होश में आने पर कमलेश ने जब राजू से धोखा देकर नसबंदी करने पर विरोध जताया और शिकायत करने के लिए कहा, तो उसने उसे जान से मारने की धमकी दी. बाद में राजू ने कमलेश को ग्वालियर वापसी का किराया देकर जबरदस्ती एक बस में बैठा दिया.

कमलेश ने घर लौट कर अपने साथ हुए धोखे की कहानी परिजनों को बताई तो मां उसे लेकर हजीरा थाने पहुंची. पुलिस कमलेश के साथ घटी घटना की जांच कर रही है. आशंका है नसंबदी के ऑपरेशन के एवज में मिलने वाले पैसों के लालच में राजू ने दोस्त को धोखा दिया है.