जयपुर। गुजरात के 26 साल के सलामी बल्लेबाज समित गोहेल ने ओडिशा के खिलाफ रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल में आज यहां पारी में नाबाद रहते हुए 359 रन बनाए। यही नहीं, प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पूरी पारी में अजेय रहते हुए सर्वाधिक स्कोर का 117 साल पुराना रिकॉर्ड भी तोड़ा। हनीफ मोहम्मद के 499 रन पारी की शुरुआत करते हुए प्रथम श्रेणी क्रिकेट में किसी भी बल्लेबाज का सर्वाधिक स्कोर है, लेकिन पारी की शुरुआत करके नाबाद रहते हुए गोहेल से अधिक रन किसी ने नहीं बनाए हैं। गुजरात ने 641 रन बनाए।

तोड़ा 1899 में बना रिकॉर्ड

गोहेल ने समरसेट के खिलाफ सरे के बाबी एबेल का 357 रन का रिकॉर्ड तोड़ा जो उन्होंने 1899 में केनसिंगटन ओवल मैदान में बनाया था। गोहेल ने 723 गेंद की अपनी पारी के दौरान 45 चौके और एक छक्का मारा। गुजरात के आणंद के रहने वाले गोहेल ने कहा- मुझे नहीं पता था कि यह वर्ल्ड रिकॉर्ड है। मैं सिर्फ अधिक से अधिक समय तक खेलना चाहता था। कोच विजय पटेल सर और पार्थिव भाई ने बोला था लंबा खेलो। मैं सिर्फ यही करने का प्रयास किया। मुझे खुशी है कि मैं इतने लंबे समय तक बल्लेबाजी कर पाया। बेशक यह मेरे जीवन का सबसे बेहतरीन दिन है।

कोच को गर्व है गोहेल पर

गुजरात के रणजी ट्राफी कोच विजय पटेल को भी गोहेल की उपलब्धि पर गर्व है। उन्होंने कहा- वह रक्षात्मक बल्लेबाज है जैसा कि आंकड़े भी कहते हैं। लेकिन धीरे धीरे शाट खेलने की उसकी भूख बढ़ रही है। साथ ही 723 गेंद (120.3 ओवर) का सामना करना उसकी एकाग्रता को दर्शाता है। साथ ही आज गुजरात ने 641 रन का अपना सर्वोच्च प्रथम श्रेणी स्कोर बनाया। गोहेल के साथी प्रियांक पांचाल इस सत्र में रणजी ट्रॉफी में शीर्ष स्कोर हैं और गोहेल ने कहा कि उनके लिए यह साथी बल्लेबाजी प्रेरणा है।