मध्य प्रदेश के सीधी जिले में लोकायुक्त पुलिस ने सोमवार को बिजली विभाग के जूनियर इंजीनियर नरेंद्र तिवारी को 20 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया.

रीवा के पुलिस अधीक्षक (लोकायुक्त) टी.के. विद्यार्थी ने बताया कि सीधी जिले के मंझोली में पदस्थ जूनियर इंजीनियर नरेंद्र तिवारी ने पिछले दिनों शिव कुमार साहू के यहां बिजली का अवैध कनेक्शन पकड़ा था. इस मामले के निपटारे के एवज में तिवारी ने साहू से 20 हजार रुपये की रिश्वत मांगी थी.

 

विद्यार्थी के मुताबिक, जूनियर इंजीनियर द्वारा रिश्वत मांगे जाने की शिकायत उनके कार्यालय में की गई. शिकायत की पुष्टि होने पर सोमवार को लोकायुक्त पुलिस की टीम ने बिजली विभाग के दफ्तर में तिवारी को साहू से 20 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया.

रिश्वतखोर जूनियर इंजीनियर के खिलाफ भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम की धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है. कार्रवाई पूरी होने पर रिश्वतखोर इंजीनियर को निजी मुचलके पर रिहा किया गया.