मध्य प्रदेश के रतलाम में पुलिस ने अवैध हथियारों की खरीद-फरोख्त करने वाले अन्तरराज्जीय गिरोह का खुलासा किया है. पुलिस ने इस गिरोह के 7 सदस्यों को गिरफ्तार कर उनसे 10 पिस्टल, एक रिवॉल्वर और 11 कारतूस जब्त किए है.

एसपी अमित सिंह ने बताया कि मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर पकड़े गए सभी बदमाश रतलाम और आसपास के क्षेत्रों के रहने वाले है. ये शातिर बदमाश रतलाम जिले में लंबे समय से अवैध हथियारों को बेचने का काम कर रहे थे.

बदमाशों ने पूछताछ के दौरान बताया कि उन्होंने धार जिले के सिकलीकरों से अवैध हथियार और कारतूस खरीदे थे, जिन्हें ऊंचे दामों पर रतलाम और आसपास के क्षेत्रों में बेचने की तैयारी थी.

इस गिरोह का नेटवर्क राजस्थान से लेकर दिल्ली तक है, जहां ये बदमाश अवैध हथियारों की बिक्री करते आए है. पुलिस के अनुसार ये बदमाश रतलाम के बड़ा रेलवे जंक्शन का फायदा उठाकर कई राज्यों में हथियारों की सप्लाई कर रहे थे. यहां से ट्रेनों की उपलब्धता को उन्होंने अवैध हथियारों के धंधे में सप्लाई का जरिया बना लिया था.

पुलिस इन बदमाशों का पुराना रिकॉर्ड भी खंगाल रही है. साथ ही पुलिस इस गिरोह के मास्टर माइंड की तलाश में जुटी है, जो अब तक पुलिस की गिरफ्त से दूर है.