छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित कांकेर जिले में तीन लाख रूपए के ईनामी नक्सली समेत पांच नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। कांकेर जिले के पुलिस अधिकारियों ने आज भाषा को दूरभाष पर बताया कि जिले में आज माओवादियों के खोखली विचारधारा, उनके शोषण, अत्याचार तथा हिंसा से तंग आकर पांच नक्सलियों ने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है.

अधिकारियों ने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों में प्लाटून नंबर 33 के सेक्सन बी का कमांडर बिसलाल उर्फ सुखदेव, परतापुर एरिया कमेटी के अंतर्गत जनमिलिशिया सदस्य शामलाल उर्फ करिया, रावघाट एरिया कमेटी के अंतर्गत जनमिलिशिया सदस्य धनीराम दुग्गा और नकुल उर्फ महेश  तथा महिला नक्सली चेतना नाटय मंच की सदस्य राजबती उर्फ पुष्पा शामिल है।

उन्होंने बताया कि नक्सली बिसलाल वर्ष 2007 से, शामलाल वर्ष 2008 से, धनीराम वर्ष 2013 से, नकुल वर्ष 2011 से तथा राजबती वर्ष 2004 से नक्सली आंदोलन में जुड़कर काम कर रहे हैं. नक्सली बिसलाल के सर पर तीन लाख रूपए का ईनाम घोषित है.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आत्मसमर्पित नक्सलियों के खिलाफ कई मामले दर्ज हैं. उन्होंने बताया कि आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों की सहायता राज्य शासन की आत्मसमर्पण नीति के तहत की जाएगी.