किसी भी चीज की लत अच्छी नहीं होती, खासतौर से सिगरेट की लत। हालांकि कई लोग इससे छुटकारा भी पाना चाहते हैं। इसके लिए वह ई-सिगरेट, निकोटिन च्यूईंगम, हर्बल सिगरेट का सहारा लेते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि ये सब चीजें सिगरेट से भी ज्यादा खतरनाक होती हैं। तो आइए जानते हैं कि ये विकल्प आपके शरीर को किस तरह नुकसान पहुंचाते हैं।

ये सिगरेट भी आम सिगरेट की तरह ही दिखाई देती है। लेकिन इसके अंदर तंबाकू की जगह जड़ी-बूटियां भरी होती हैं। फिर भी यह हानिकारक होती है क्योंकि किसी भी जड़ी-बूटी को जलाने से उसमें से उतना ही टार, कार्बन मोनोऑक्साइड और अन्य विषाक्त पदार्थ निकलते हैं जितने कि तंबाकू से। इसलिए जब आप इसका कश लेते हैं तो सीधे फेफड़ों में विषाक्त पदार्थ भर रहे हैं।

 

ई सिगरेट- 
एक शोध में सामने आया है कि इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट आम सिगरेट से दस गुना ज्यादा नुकसानदेह होती है। इसमें ऐसे कैमिकल भरे होते हैं जिनसे कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है। ई सिगरेट के तरल पदार्थ के वाष्प में फार्मल्डिहाइड और एसिटलडिहाइड होते हैं जो शरीर के लिए हानिकारक होते हैं। साथ ही इसमें निकोटिन पाया जाता है जिससे दांतो और मसूड़ों की बीमारियां होती हैं।

 

निकोटिन च्यूईंगम-
कई लोग सिगरेट छोड़ने के लिए निकोटिन च्यूईंगम का सहारा लेते हैं। लेकिन आपको बता दें कि इसके सेवन से हाई ब्लड प्रेशर, गैस बनना, कफ, नींद ना आना जैसी बीमारियां होती हैं। साथ ही ओरल हेल्थ से जुड़ी प्रॉब्लम सामने आती हैं।

 

प्राकृतिक सिगरेट-
इसमें बीड़ी, लौंग वाली सिगरेट आदि आते हैं। इनमें भी तंबाकू पाया जाता है जो शरीर के लिए हानिकारक होता है।