सरहद पर तनाव के बीच भारतीय हॉकी टीम ने पाकिस्तान को धोया

एशियन चैंपियंस ट्रॉफी हॉकी के फाइनल में भारतीय टीन ने पाकिस्तान को 3-2 के अंतर से हरा दिया. मैच के दौरान स्टेडियम में ‘भारत माता की जय’ के नारे लगे. रविवार को दिवाली के मौके पर हो रहे इस मैच में इससे पहले, पाक ने दूसरा गोल कर मैच को 2-2 से बराबर पर ला दिया था. 18वें मिनट में भारत की तरफ से पहला गोल रुपिंदर पाल ने जबकि 23वें मिनट में दूसरा गोल रमनदीप ने किया था. भारत ने तीसरी बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई है.

पाकिस्तान ने 26वें मिनट में पहला गोल किया था. मैच में पाकिस्तान को पेनाल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन उसे गोल में नहीं बदला जा सका. सेकंड हाफ के दूसरे क्वार्टर में भारत की तरफ से निकिन थम्मैया ने तीसरा गोल किया. इसके पहले मैच के 38वें मिनट में पाकिस्तान के लिए दूसरा गोल अलीशाह ने किया था. लीग मैच में कुछ दिनों पहले ही भारत ने पाकिस्तान को 3-2 से हराया था.

23वें मिनट में भारत ने किया था पहला गोल

पाकिस्तान ने अलीम बिलाल ने पहली पेनाल्टी कॉर्नर को गोल में बदला था. वहीं भारत ने मैच के दूसरे क्वार्टर के 23वें मिनट में दूसरा गोल किया था. भारत ने 18वें मिनट में पहला गोल किया था. दूसरे पेनाल्टी कॉर्नर को रुपिंदर पाल सिंह ने गोल में बदल दिया था. भारत को 8वें मिनट में ही पहला पेनाल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन उसे गोल में नहीं बदला जा सका

श्रीजेश की जगह गोलकीपर बने थे आकाश छिकते

सेमीफाइनल मैच में भारत के हीरो रहे पीआर श्रीजेश चोट की वजह से फाइनल मैच में नहीं खेल रहे हैं. उनकी जगह आकाश छिकते भारत के गोलकीपर बने हैं. इस टूर्नामेंट में भारत ने अब तक 27 गोल किए हैं जबकि पाकिस्तान ने सिर्फ 14 गोल. इस ट्रॉफी में पाकिस्तान काफी कामयाब रहा है. 2012 और 2013 में वह टाइटल जीत चुका है. भारत ने साल 2011 में इनॉगरल एडिशन जीता था.

साउथ कोरिया को हराकर फाइनल में पहुंचा था भारत

शनिवार को हुए सेमीफाइनल में भारत ने साउथ कोरिया को पहले 2-2 से ड्रॉ पर रोका और फिर पेनाल्टी शूट आउट में 5-4 से रोमांचक जीत हासिल कर फाइनल में जगह बनाई थी. भारत-कोरिया मैच में भारत ने निर्धारित समय में मुकाबला 2-2 से बराबर रहने के बाद शूटआउट में अपने पांचों प्रयासों को भुनाया जबकि कोरियाई टीम चार प्रयास ही भुना पाई थी.

श्रीजेश ने पाकिस्तान को हराकर सैनिकों के सम्मान की बात कही थी

पाकिस्तान से बुरी तरह बिगड़े रिश्तों के बीच भारतीय खिलाड़ी पीआर श्रीजेश ने इसी साल 28 सितंबर को उसे मैदान में हराने की कसम खाई थी. सरहद पर सैनिकों के बलिदान को याद करते हुए उन्होंने कहा था कि हम एशियन चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान को हराने में जी जान लगा देंगे. भारतीय हॉकी टीम पाकिस्तान से मैच हारकर अपने सैनिकों को निराश नहीं होने देगी. खासकर जब सैनिक बॉर्डर पर होने वाली फायरिंग में अपनी जान गंवाकर शहीद हो जाते हैं.