पाकिस्तान हॉकी महासंघ (पीएचएफ) ने भारत के लखनऊ में दिसंबर में होने वाले जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप में अपनी टीम को भेजने के लिए पाकिस्तान सरकार से अनुमति मांगी है। 

भारत और पाकिस्तान के आपसी संबंधों में मौजूदा तनाव के बीच पीएचएफ ने यह फैसला लिया है। इससे पहले भारत ने अपनी मेजबानी में हो रहे कबड्डी वर्ल्ड कप में भाग लेने के लिए पाकिस्तान को आमंत्रित नहीं किया था। उरी हमले और सर्जिकल स्ट्राइक के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गये हैं। 

पीएचएफ के सचिव शाहबाज अहमद ने मीडिया को बताया कि सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद ही जूनियर टीम लखनऊ में होने वाले हॉकी वर्ल्ड कप में भाग लेने भारत जाएगी। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच मौजूदा तनाव को देखते हुए हमने पाकिस्तान स्पोर्ट्स बोर्ड से टूर्नामेंट में भाग लेने के लिए मंजूरी देने को कहा है। 

सचिव ने कहा कि सरकार से मंजूरी मिलने के बाद हम जाएंगे लेकिन हम चिंतित हैं क्योंकि भारत ने अहमदाबाद में कबड्डी वर्ल्ड कप में पाकिस्तानी टीम को भाग लेने की अनुमति नहीं दी थी। उन्होंने कहा कि जूनियर हॉकी वर्ल्ड कप काफी महत्वपूर्ण टूर्नामेंट है लेकिन उड़ी हमले के बाद भारत की ओर से अच्छे संकेत नहीं मिले हैं।