छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के मस्तूरी थाना क्षेत्र के ग्राम मल्हार में तांत्रिक द्वारा ग्यारह साल की मासूम के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है. तांत्रिक ने पूजा के बहाने बच्ची को घर बुलाया और फिर उसका रेप किया.

परिवार को जब इस बात का पता चला तो वह मामला दर्ज कराने थाने पहुंचे लेकिन पुलिस ने मामला दर्ज करना तो दूर सुना तक नहीं.

परिवार इंसाफ के लिए बिलासपुर में एसपी कार्यालय पहुंचा, लेकिन वहां भी एसपी साहब की अनुपस्थिति के कारण वहां से भी उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा.

मल्हार के इस गांव की कहानी भी इस बात का प्रमाण है की ये गांव राजाओं का गण था और यहां से आज भी कभी-कभी सोना खुदाई के दौरान निकल ही जाता है, जिसके चलते आए दिन यहां कोई ना कोई ढोंगी साधु या बाबा आते रहते हैं और लोगों को सोने का हंडा उनकी जमीन पर होने की बात कह कर ठगते रहते हैं.

ढोंगी बाबा कई लोगों को उनके जमीन में सोने का हांडा होने की बात कहकर पहले तो नाबालिक स्कूली बच्चों को पूजा के बहाने अपने घर बुलाता और फिर स्नान करके उनके कपड़े उतरवाता और रेप करता.

यह पहला मामला नहीं है बल्कि इससे पहले भी ये ढोंगी बाबा सात नाबालिर बच्चों का रेप कर चुका है. जब इस पूरे मामले का पता पीड़ितों के परिवार को मिला तो सब हैरान रह गए.

उन्होंने पूरे घटना क्रम की रिपोर्ट ठाणे में दर्ज करनी चाही पर पुलिस ने इतने गंभीर मामले को सुना तक नहीं, जिसके बाद मजबूरन पीड़ित परिवार शनिवार को बिलासपुर के एसपी कार्यालय पहुंचा लेकिन वहां एसपी साहब नहीं थे. जिस कारण उन्हें मायूस होकर वहां से लौटना पड़ा.

ईटीवी ने इन सभी की समस्या को सुना और पुलिस के आलाधिकारियों को उनकी कुम्भकर्णीय नींद से एक बार फिर जगाया. अब पुलिस इस मामले को कितनी गंभीरत से लेती है और क्या कार्रवाई करती है ये देखनी वली बात होगी.