रियो डि जिनेरियो। लगातार खराब प्रदर्शन की वजह से हताश और निराश भारतीय ओलंपिक दल के कुछ सदस्य जब भारतीय दूतावास में स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए गया तो वहां उन्हें खाने के लिए केवल ‘मूंगफली’ दी गई। इस कार्यक्रम का आयोजन खेल एवं युवा कल्याण मंत्रालय (Ministry of Sports and Youth Welfare) ने किया था जिसमें दोनों हॉकी टीमों ने हिस्सा लिया जो पहले ही टूर्नामेंट से बाहर हो गई हैं।

खिलाड़ियों को उम्मीद थी वहां उन्हें रात का खाना मिलेगा और इसलिए उन्होंने खेल गांव में भोजन करने की अपनी योजना रद्द कर दी थी। भारतीय दल के नेता राकेश गुप्ता से जब इसकी पुष्टि करने के लिए कहा गया तो उन्होंने कहा कि आप कृपया हॉकी खिलाड़ियों से बात करिए, वे आपको बेहतर बता सकते हैं। मैं वहां सिर्फ कुछ समय के लिए था और विकास कृष्ण के मुक्केबाजी मुकाबले के लिए तुरंत ही वापस आ गया।

 

हॉकी टीम का एक सदस्य हालांकि नाराज था। उन्होंने कहा कि हमें केवल मूंगफली खाने के लिए दी गयी। हमें कम से कम रात्रि भोज की उम्मीद थी लेकिन उन्होंने हमें बीयर, कुछ साफ्ट ड्रिंक्स और मूंगफली दी। हमने खेल गांव में भी रात्रि भोजन नहीं करने का फैसला किया था लेकिन हमें वहां से भूखा लौटना पड़ा। यह वास्तव में बेहद निराशाजनक था।

 

ब्राजील में भारतीय दूतावास और युवा कल्याण एवं खेल मंत्रालय द्वारा आयोजित 70वें स्वतंत्रता दिवस का कार्यक्रम बड़ा नहीं था क्योंकि कल शाम को इसे जब आयोजित किया गया तब कई मैच होने थे। मीडियाकर्मी बैडमिंटन और मुक्केबाजी मैच कवर करने में व्यस्त थे अैर ऐसे में पुरूष और महिला हॉकी टीमें ही समारोह में जा पाईं। कार्यक्रम का निमंत्रण खेल सचिव राजीव यादव की तरफ से आया था।