रियो दि जेनेरियो। भारत का रियो ओलंपिक खेलों में निराशाजनक प्रदर्शन जारी है। भारत के शीर्ष टेबल टेनिस खिलाड़ी अचंत शरत कमल को पहले ही रॉउंड में हार का मुंह देखना पड़ा है। अचंत शरत कमल को रोमानियन खिलाड़ी ने मात दी। यही नहीं, बाद में भारत की महिला डबल्ड जोड़ी टेनिस की प्रतिस्पर्धा से बाहर हो गई। सानिया मिर्जा और उनकी जोड़ीदार प्रार्थना भोंबरे को पहले ही दौर में 6-7, 7-5, 5-7 से हार का मुंह देखना पड़ा.

सानिया और भोंबरे ने पहला सेट 6-7 से गंवाने के बाद दूसरे सेट में 7-5 जीत दर्ज कर मुकाबले में बराबरी पाई थी, पर आखिरी सेट वो 5-7 से गवां बैठी। इस तरह से रोहन बोपन्ना और लिएंडर पेस की पुरुष डबल्स जोड़ी की तरह महिला जोड़ी को भी पहले ही दौर में हार का मुंह देखना पड़ा। अब सानिया सिर्फ मिक्स्ड डबल्स में ही बची हुई हैं।

 

इससे पहले, टेबल टेनिस के मुकाबले में अचंत शरत कमल ने शुरुआती दो सेट 8-11, 12-14 से हारने के बाद तीसरे सेट को 11-9 से जीतकर वापसी की कोशिश तो की, पर रोमानियन खिलाड़ी आद्रियन क्रिसेन से पार न पा सके और चौथे के साथ ही पांचवे सेट को 6-11, 8-11 से गवां बैठे। इस हार के साथ ही अचंत शरत कमल भारत की ओर से पहले ही रॉउंड में हारने वाले पांचवें बड़े खिलाड़ी बन गए हैं।

 

टेबल टेनिस के अलावा वेटलिफ्टिंग में भी भारत के लिए बुरी खबर आई। भारत की चानू 82 किलो वजन उठाकर छठे स्थान पर रही। उन्होंने तीसरे रॉउंड में 84 किलो वजन उठाने की कोशिश की, पर वो नाकाम रही। इस तरह से वो 82 किलो वजन के साथ छठे स्थान पर रही। यही नहीं, क्लीन एंड जर्क में वो तीनों ही कोशिशों में फाउल कर गई। इस तरह  से उनका ओलंपिक का सफर निराशाजनक तरीके से समाप्त हुआ।