पेरिस। यूरो कप का फाइनल बेहद रोमांचक हुआ। फ्रांस के पेरिस में खेले गए फ़ाइनल में पुर्तगाल ने फ्रांस को 1-0 से हराकर ट्रॉफी अपने नाम कर ली। इसके साथ ही फ्रांस तीसरी बार यूरो चैंपियन बनने से चूक गया। वहीं यह पुर्तगाल की पहली बड़ी खिताबी जीत है।

बीबीसी के मुताबिक, निर्धारित 90 मिनटों में कोई भी टीम गोल नहीं कर सकी और जैसी की आशंका थी,मुकाबला गोल रहित रहा।

मैच के दौरान फ्रांस की टीम का प्रदर्शन अच्छा था और मैच के ज्यादातर समय में वो पुर्तगाल पर हावी नजर आ रही थी। हालांकि मैच में मिले मौकों को वो गोल में तब्दील नहीं कर पाई।

पुर्तगाल के खिलाड़ी एडर ने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए 110वें मिनट में गोल कर दिया और पुर्तगाल को वो पल दिला दिया जिसका उसे वर्षों से इंतजार था।

रोतेे हुए बाहर गए रोनाल्डो

पुर्तगाल ने लगभग पूरा मैच अपने स्टार खिलाड़ी क्रिस्टियानो रोनाल्डो के बिना खेला जो फ्रांस के मिडफील्डर दिमित्री पेयेट से टकराने के बाद मैच से बाहर हो गए थे। स्ट्रेचर पर मैदान से बाहर जाते हुए रोनाल्डो की आंखों से आंसू निकल रहे थे।

ट्रॉफी लेने के बाद पुर्तगाल के खिलाड़ियों ने जमकर जीत का जश्न मनाया। खिलाड़ियों ने ट्रॉफी के साथ मैदान का चक्कर लगाया और प्रशंसकों और दर्शकों का आभार प्रकट किया।