छत्तीसगढ़ के बिलासपुर पुलिस ने डी कम्पोस्ड (सड़ी) हुए शव मिलने के मामले में चौंकाने वाला खुलासा किया है.

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले के मस्तूरी थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम भौरा बहरा खार के नाले के पास 03 अक्टूबर 2015 को बोरे में बंद अज्ञात शव पाया गया था जो पूरी तरह से डी कम्पोस्ड (सड़) गई थी.

पुलिस ने जिस गांव से शव मिला था उसी गांव के रहने वाले गुमशुदा किशन कुर्रे नाम के व्यक्ति के पुत्र का डीएनए टेस्ट अज्ञात बॉडी से कराया जो शनिवार को पॉजिटिव आया है. अज्ञात शव की शिनाख्त किशन कुर्रे के रूप में हुई है. फॉरेंसिक टेस्ट के आधार पर पुलिस में किशन के परिजनों से पूछताछ की, जिसमें परिजनों ने हत्या कारन स्वीकार किया. मृतक किशन की पत्नी ने मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया था.

पत्नी और बड़े भाई के बीच अवैध सम्बंध हत्या का मुख्य कारण था. बताया जा रहा है कि मृतक किशन कुर्रे ने दोनों को संदिग्ध अवस्था में देख लिया था. उसके बाद दोनों ने मिलकर पहले तो लाठी से पीट-पीट कर मृतक को बेहोश किया फिर टंगिया मार कर हत्या कर दी थी.

हत्याकांड का खुलासा एडिशनल एसपी अर्चना झा ने बिलासा गुड़ी में किया. हत्या के दोनों आरोपी मृतक किशन का बड़ा भाई कमलेश और मृतक किशन की पत्नी को गिरफ्तार कर हत्या में इस्तेमल किए गए औजार को जब्त कर लिया है.