नई दिल्ली: यूरोपियन फुटबॉल चैम्पियनशिप 2016 का आगाज होने वाला है। टूर्नामैंट का उद्घाटन मैच मेजबान फ्रांस और रोमानिया के बीच खेला जाएगा। यह टूर्नामैंट स्टेड दे फ्रांस में हो रहा है। जानिए, टूर्नामैंट के बारे में यह 10 खास बातें-
 
1960 में हुई थी शुरुआत
15वां यूरो कप खेला जाएगा। यूरो कप की शुरुआत 1960 में हुई थी। पैन-यूरोपियन फुटबॉल टूर्नामैंट का आइडिया 1927 में फ्रेंच फुटबॉल फेडरेशन के सेक्रेटरी जनरल हेनरी डेलॉने ने दिया था। डेलॉने की मृत्यु के तीन साल बाद 1958 में इस अमलीजामा पहनाया गया और 1960 में पहला टूर्नामैंट खेला गया।
 
4 टीमों के साथ शुरू किया गया था यूरो कप
यूरो कप 4 टीमों के साथ शुरू किया गया और अब इस टूर्नामेंट में 24 टीमें हिस्सा ले रही हैं,जिनके बीच होने वाले मुकाबले देश के 10 शहरों में खेले जाएंगे। इन टीमों को 6 ग्रुपों में बांटा गया है। यूरो 2016 का पहला और फाइनल मुकाबला स्टेड दे फ्रांस में खेला जाएगा।
 
ग्रुप
 
ग्रुप-ए : फ्रांस, रोमानिया, अल्बानिया, स्विट्जरलैंड
ग्रुप-बी : इंग्लैंड, रूस, स्लोवाकिया, वेल्स
ग्रुप-सी : जर्मनी, यूक्रेन, पोलैंड, उत्तरी आयरलैंड
ग्रुप-डी : स्पेन, चेक गणराज्य, तुर्की, क्रोएशिया
ग्रुप-ई : बेल्जियम, इटली, रिपब्लिक ऑफ आयरलैंड, स्वीडन
ग्रुप-एफ : पुर्तगाल, आइसलैंड, ऑस्ट्रिया, हंगरी
 
 
ट्रॉफी का नाम हेनरी डेलॉने
यूरो कप की ट्रॉफी का नाम हेनरी डेलॉने है। यह नाम फ्रांस के पूर्व सेक्रेटरी जनरल हेनरी डेलॉने के सम्मान में रखा गया है।
 
ज्यादादर चैम्पियन बनने का रिकॉर्ड स्पेन और जर्मनी के नाम
यूरो कप सबसे ज्यादा बार चैम्पियन बनने का रिकॉर्ड स्पेन और जर्मनी के नाम पर है। दोनों टीमों ने तीन-तीन बार यह खिताब जीता है। स्पेन डिफेंडिंग चैम्पियन है। 1964, 2008 और 2012 के खिताब उसने अपने नाम किए हैं। पिछले लगातार दो टूर्नामेंट स्पेन ने ही जीते हैं।

पिछले साल नवम्बर में हुआ था आतंकी हमला
पिछले साल नवम्बर में पेरिस में हुए आतंकवादी हमलों के बाद से टूर्नामैंट की सुरक्षा का ध्यान रखा गया है और इसलिए इसमें खेले जाने वाले सभी मुकाबलों के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। यूरोपियन फुटबॉल चैम्पियनशिप 2016 के आयोजकों ने कहा कि वे फ्रांस की सरकार, मेजबान शहरों के साथ पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के बीच सुरक्षित टूर्नामैंट के आयोजन के लिए आश्वस्त हैं।