बिलासपुर, छत्तीसगढ़ में बिलासपुर के जिन तीन अधिकारियों के यहां शनिवार को एंटी करप्शन ब्यूरो का छापा मारा था, उनमें से एक जिला पंचायत के परियोजना अधिकारी आनंद पांडेय के बैंक खातों और लाकर की सोमवार को छानबीन की गई.

एसीबी की तीन सदस्यों की टीम ने बस स्टैंड स्थित एक्सिस बैंक और दयालबंद स्थित आईडीबीआई बैंक में आनंद पांडेय और उनके भाई अशोक पांडेय के खातों और लॉकर की जांच की.

अधिकारी आनंद पांडेय और अशोक पांडेय को लेकर बैंक पहुंचे. बताया गया कि एक्सिस बैंक में दो लॉकर हैं. एसीबी अधिकारियों ने इन लॉकरों को खोला है. फिलहाल, अधिकारी लाकर से क्या मिला इसे नहीं बता रहे हैं.

आईडीबीआई बैंक में पूछताछ से पता चला कि आनंद पांडेय ने यहां से चार लाख रुपए लोन लिया है. लिहाजा यहां उनका अकाउंट है. वैसे आनंद पांडेय के घर पड़े छापे में जिस तरह से करोड़ों रुपए की संपत्ति मिली है, उससे लगता है कि लॉकर से भी जरूर कीमती जेवरात, नगद या संपत्ति के कागज मिलेंगे.

शनिवार को आनंद पांडेय के साथ साथ रिटायर्ड फूड आफिसर गुलाम मोहम्मद और रायगढ़ के जिला शिक्षा अधिकारी एनके द्विवेदी के घर भी छापा पड़ा था. इन दोनों के भी शहर में बैंक अकाउंट होने की जानकारी मिली थी, लेकिन फिलहाल एसीबी ने इन दोनों अधिकारियों के बैंक खातों की जांच नहीं की है.